Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 22, 2022 · 1 min read

तू एक बार लडका बनकर देख

1.लाड प्यार से ज्यादा जिम्मेदारियो का पाठ पढ़ा जाता है कितने मुश्किल से कमते है पेसे यही बचपन से सिखा जाता है
2.तू लड़का है किसी भी हाल में तू रो नहीं सकता खिलाना
टुटे फिर दिल तू प्लके भीगो नहीं सकता
3.की एक के दिल का नूर है तू किसी की मांग का सिंदूर है तू कोन स्मझेगा तुझे किस को बटायेगा दिन भर के थकन से चकना चूर है तू
4.की तू तू मर्द है रोके दीखा नहीं सकता कितना तू भी टूटा हो दिल तू आशु बहा नहीं सकता तू दिन रात शुभ शाम खुआइशो की भट्टी में जलकर देख तू एक बार लडका बनके देख
5.क्या तू देख पाएगा इस उमर म मा बाप को काम करते हुए या देख पाएगा बीबी बच्चे को अभव म पलते हुए
6.तुझे कृष्ण बन प्रेम का राग सुनाना पड़ेगा मन माई बसी हो राधा लेकिन रुक्मादी से ब्या रचना पढेगा तू अपनी ही इच्छाओ पर आदर्श का चोला पहन कर देख तू एक बार लडका बनकर तो देख
8.तुझे हर घाव हर जाखम चुपाना पडेगा कुछ भी हो तुझे दुनिया के सामने मुस्कुराना होगा कितना दर्द है दिल में क्या पर हाथ रखकर तो देख तू एक बार लडका बनकर
देख
.. writing by .. Abhishek Upadhyay

95 Views
You may also like:
घर आंगन
शेख़ जाफ़र खान
शोहरत और बंदर
सूर्यकांत द्विवेदी
धार्मिक आस्था एवं धार्मिक उन्माद !
Shyam Sundar Subramanian
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग २]
Anamika Singh
मेरे पापा!
Anamika Singh
आँखें भी बोलती हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तब मुझसे मत करना कोई सवाल तुम
gurudeenverma198
दुलहिन परिक्रमा
मनोज कर्ण
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग१]
Anamika Singh
✍️जंग टल जाये तो बेहतर है✍️
"अशांत" शेखर
राम नाम जप ले
Swami Ganganiya
फ़नकार समझते हैं Ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr. Alpa H. Amin
पिता
Vandana Namdev
विश्व विजेता कपिल देव
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता, इन्टरनेट युग में
Shaily
"सुकून की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
इश्क़ में क्या हार-जीत
N.ksahu0007@writer
पिता के जैसा......नहीं देखा मैंने दुजा
Dr. Alpa H. Amin
ये जिंदगी ना हंस रही है।
Taj Mohammad
पेड़ों का चित्कार...
Chandra Prakash Patel
कहो अब और क्या चाहें
VINOD KUMAR CHAUHAN
मन पीर कैसे सहूँ
Dr. Sunita Singh
पिता है भावनाओं का समंदर।
Taj Mohammad
"हमारी यारी वही है पुरानी"
Dr. Alpa H. Amin
“ गोलू क जन्म दिन “
DrLakshman Jha Parimal
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
अरदास
Vikas Sharma'Shivaaya'
जिंदगी ये नहीं जिंदगी से वो थी
Abhishek Upadhyay
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
Loading...