तुह्मत तो लाजवाब मिले, होश में हूँ मैं

मुझको तो अब शराब मिले, होश में हूँ मैं
और वह भी बेहिसाब मिले, होश में हूँ मैं

सच्चाइयों से ऊब चुका हूँ बुरी तरह
अब इक हसीन ख़्वाब मिले, होश में हूँ मैं

मेरे किये का ख़ाक मिलेगा मुझे सवाब
तुह्मत तो लाजवाब मिले, होश में हूँ मैं

अर्ज़ी मेरी क़ुबूल हो उल्फ़त की आज ही
या तो मुझे जवाब मिले, होश में हूँ मैं

ग़ाफ़िल समझ के बात जुगनुओं पे टाल मत
अब मुझको माहताब मिले, होश में हूँ मैं

-‘ग़ाफ़िल’

164 Views
You may also like:
सद्आत्मा शिवाला
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌺🌺प्रेम की राह पर-9🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दुनिया पहचाने हमें जाने के बाद...
Dr. Alpa H.
फिर से खो गया है।
Taj Mohammad
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
खाली पैमाना
ओनिका सेतिया 'अनु '
उत्साह एक प्रेरक है
Buddha Prakash
पहाड़ों की रानी
Shailendra Aseem
मैं
Saraswati Bajpai
रत्नों में रत्न है मेरे बापू
Nitu Sah
* उदासी *
Dr. Alpa H.
कलयुग की पहचान
Ram Krishan Rastogi
पिता के जैसा......नहीं देखा मैंने दुजा
Dr. Alpa H.
मां तो मां होती है ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
गुफ़्तगू का ढंग आना चाहिए
अश्क चिरैयाकोटी
स्वप्न-साकार
Prabhudayal Raniwal
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
बेटियाँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
ईद में खिलखिलाहट
Dr. Kishan Karigar
तुम मेरी हो...
Sapna K S
माँ तेरी जैसी कोई नही।
Anamika Singh
दहेज़
आकाश महेशपुरी
【8】 *"* आई देखो आई रेल *"*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
【31】{~} बच्चों का वरदान निंदिया {~}
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ज़ुबान से फिर गया नज़र के सामने
कुमार अविनाश केसर
क्या देखें हम...
सूर्यकांत द्विवेदी
नादानी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
Loading...