Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
Apr 8, 2022 · 1 min read

तुम और मैं

तुम और मै
*********
तुम इंग्लिश पढ़ी लिखी हो,
मै हिन्दी भी भूल चुका हूं।

तुम बुलेट ट्रेन जापान की हो,
मै मिचकु खां का ठेला हूं।

तुम बेंगलोरी सिलकन साड़ी हो,
मै फटा हुआ कुर्ता गाढ़े का हूं।

तुम बसंत ऋतु की फुलवाड़ी हो,
मै ग्रीष्म ऋतु का पतझड़ हूं।

तुम बैंक लॉकर की बड़ी चाबी हो
मै छोटा सा ताला ड्रॉवर का हूं।

तुम बड़े मैनेजर की पी ए हो,
मै चपरासी छोटे बाबू का हूं।

तुम राजमहलों की बड़ी रानी हो,
मै झोपड़ी का गरीब बालक हूं।

तुम नदी की मीठी चंचल धारा हो,
मै समुंद्र का केवल खारा पानी हूं।

तुम मृग शावक सी कोमल हो,
मै स्टील से कड़ी कठोर धातु हूं।

तुम पूर्णिमा की चमक चांदनी हो,
मै अमास्या का घोर अंधेरा हूं।

तुम विश्व सुंदरी से बढ़कर हो,
मै अफ्रीका का काला कलूटा हूं।

तुम अमीरो की वैभव शाला हो,
मै गरीबों की एक मधुशाला हूं।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

5 Likes · 4 Comments · 191 Views
You may also like:
"एक नई सुबह आयेगी"
Ajit Kumar "Karn"
समय..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
खुशबू
DESH RAJ
बेजुबान
Anamika Singh
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
क्या कहते हो हमसे।
Taj Mohammad
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H. Amin
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
माखन चोर
N.ksahu0007@writer
✍️शरारत✍️
"अशांत" शेखर
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
सगुण
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️बगावत थी उसकी✍️
"अशांत" शेखर
एक हम ही है गलत।
Taj Mohammad
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
निर्गुण सगुण भेद..?
मनोज कर्ण
✍️✍️बूद✍️✍️
"अशांत" शेखर
रुक जा रे पवन रुक जा ।
Buddha Prakash
हम पर्यावरण को भूल रहे हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
बुरा तो ना मानोगी।
Taj Mohammad
खेतों की मेड़ , खेतों का जीवन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
माँ
Dr Archana Gupta
मेरे पापा
Anamika Singh
अजब कहानी है।
Taj Mohammad
✍️मैं एक मजदुर हूँ✍️
"अशांत" शेखर
अग्रवाल समाज और स्वाधीनता संग्राम( 1857 1947)
Ravi Prakash
फरिश्ता बन गए हो।
Taj Mohammad
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
Loading...