Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 2, 2022 · 1 min read

तुम्हें जन्मदिन मुबारक हो

तुझको मिले हरखुशी, दुहा यह रोज करते हैं ।
ना कोई गम हो वहाँ, जहाँ पर आप रहते हैं ।।
जहाँ भी जाये आपका , बहारे- गुल – ए – स्वागत हो ।
मुबारक हो, मुबारक हो, तुम्हें जन्मदिन मुबारक हो ।।
तुझको मिले हरखुशी ————————-।।

अजी ,जब आप हंसते हैं तो यह गुलशन भी हंसता है ।
अजी, जब आप चलते हैं तो यह सूरज भी चलता है ।।
अजी, जब आप गाते हैं तो पंछी भी मचलते है ।
हंसी चेहरा , शुभां अल्लाह , वाह क्या खूब फबते हो ।
मुबारक हो ,मुबारक हो ,———————–।।

अजी, आप तो इन महलों में ही अच्छे लगते हैं ।
अजी, आप तो इन कपड़ों में ही खूब जमते हैं ।।
अजी, आप से ही तो चांद तारें चमकते हैं ।
हजारों साल जीवो तुम , मुकम्मल ख्वाब तेरे हो ।।
मुबारक हो, मुबारक हो ,———————।।

(01 जुलाई को गुरुदीन वर्मा के जन्मदिन पर)

(स्वरचित&स्वलिखित – गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद )
पता- पिण्डवाड़ा, जिला- सिरोही(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर – 9571070847

69 Views
You may also like:
उम्र
Anamika Singh
"पिता का जीवन"
पंकज कुमार "कर्ण"
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
भाइयों के बीच प्रेम, प्रतिस्पर्धा और औपचारिकताऐं
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
पितृ-दिवस / (समसामायिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
विश्व जनसंख्या दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शांति....
Dr.Alpa Amin
अपना लो मुझे अभी...
Dr.Alpa Amin
कविता को बख्श दो कारोबार मत बनाओ।
सत्य कुमार प्रेमी
"कारगिल विजय दिवस"
Lohit Tamta
अगर की हमसे मोहब्बत
gurudeenverma198
जय हिन्द जय भारत
Swami Ganganiya
*रठौंडा मन्दिर यात्रा*
Ravi Prakash
पलटू राम
AJAY AMITABH SUMAN
भोरे
spshukla09179
पथ जीवन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
पानी की कहानी, मेरी जुबानी
Anamika Singh
दरों दीवार पर।
Taj Mohammad
बद्दुआ।
Taj Mohammad
हम हर गम छुपा लेते हैं।
Taj Mohammad
मिलना , क्यों जरूरी है ?
Rakesh Bahanwal
सावन मास निराला
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आखिर क्यों... ऐसा होता हैं 
Dr.Alpa Amin
✍️वो कहना ही भूल गया✍️
'अशांत' शेखर
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
शब्दों के एहसास गुम से जाते हैं।
Manisha Manjari
नज़्म – "तेरी आँखें"
nadeemkhan24762
गुज़र रही है जिंदगी...!!
Ravi Malviya
मांडवी
Madhu Sethi
Loading...