Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Dec 15, 2019 · 1 min read

तुम्हारे साथ हर क्षण

शिशिर के कोहरे मेँ,
दोनों हाथ फैलाने से,
कोहरे के शीतल स्पर्श से,
यदि पुलकित होता हो मन,
तो सोच लेना, मैं हूं, मैं हूं..
तुम्हारे साथ हर क्षण ??

1 Like · 4 Comments · 201 Views
You may also like:
लोकसभा की दर्शक-दीर्घा में एक दिन: 8 जुलाई 1977
Ravi Prakash
✍️बगावत थी उसकी✍️
"अशांत" शेखर
बुरा तो ना मानोगी।
Taj Mohammad
वृक्ष हस रहा है।
Vijaykumar Gundal
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
कोमल एहसास प्यार का....
Dr. Alpa H. Amin
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️पैरो तले ज़मी✍️
"अशांत" शेखर
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H. Amin
*•* रचा है जो परमेश्वर तुझको *•*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️व्हाट्सअप यूनिवर्सिटी✍️
"अशांत" शेखर
तुम्हारी चाय की प्याली / लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
रामपुर का इतिहास (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
** दर्द की दास्तान **
Dr. Alpa H. Amin
✍️एक फ़रियाद..✍️
"अशांत" शेखर
बुंदेली दोहा शब्द- थराई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
चिराग जलाए नहीं
शेख़ जाफ़र खान
✍️✍️ओढ✍️✍️
"अशांत" शेखर
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:38
AJAY AMITABH SUMAN
✍️जिंदगी की सुबह✍️
"अशांत" शेखर
वक्त।
Taj Mohammad
मन बस्या राम
हरीश सुवासिया
Touching The Hot Flames
Manisha Manjari
वार्तालाप….
Piyush Goel
सार संभार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
हमारी जां।
Taj Mohammad
Loading...