Oct 11, 2016 · 1 min read

तुम्हारे अंदर ही राम है,तुम्हारे अंदर ही रावण है/मंदीप

तुम्हारे अंदर सच है
तुम्हारे अंदर जूठ है
फिर क्यों अपने मन से जूठ नही निकलते।

तुम्हारे अंदर भगवान है
तुम्हारे अंदर सेतान है
फिर क्यों इस सेतान क्यों मन से नही निकलते।

तुम्हारे अंदर अछाई है
तुम्हारे अंदर बुराई है
फिर क्यों इस बुराई को अपने मन से नही निकलते।

तुम्हारे अंदर ही विस्वास है
तुम्हारे अंदर ही स्वार्थ है
फिर इस स्वार्थ को अपने मन से नही निकलते।

तुम्हारे अंदर ही गुण है
तुम्हारे अंदर ही अवगुण
फिर क्यों अपने मन से अवगुण को क्यों नही निकलते।

तुम्हारे अंदर ही राम है
तुम्हारे अंदर ही रावण है
फिर क्यों इस रावण को अपने मन से निकलते।

एक लाईन नारी जाति के लिए_

तुम्हारे अंदर ही माँ दुर्गा है
तुम्हारे अंदर ही सुरफनखा
फिर क्यों इस सुरफनखा को अपने मन से क्यों नही निकलते।

मंदीपसाई

286 Views
You may also like:
$$पिता$$
दिनेश एल० "जैहिंद"
वैश्या का दर्द भरा दास्तान
Anamika Singh
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
हे राम! तुम लौट आओ ना,,!
ओनिका सेतिया 'अनु '
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
💐💐धड़कता दिल कहे सब कुछ तुम्हारी याद आती है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"मैंने दिल तुझको दिया"
Ajit Kumar "Karn"
हाइकु_रिश्ते
Manu Vashistha
सारे निशां मिटा देते हैं।
Taj Mohammad
हंसकर गमों को एक घुट में मैं इस कदर पी...
Krishan Singh
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
भारत के इतिहास में मुरादाबाद का स्थान
Ravi Prakash
गुलमोहर
Ram Krishan Rastogi
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
ऐ मेघ
सिद्धार्थ गोरखपुरी
नयी सुबह फिर आएगी...
मनोज कर्ण
चश्मे-तर जिन्दगी
Dr. Sunita Singh
जाने कैसी कैद
Saraswati Bajpai
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
Accept the mistake
Buddha Prakash
*मृदुभाषी श्री ऊदल सिंह जी : शत-शत नमन*
Ravi Prakash
जहां चाह वहां राह
ओनिका सेतिया 'अनु '
【21】 *!* क्या आप चंदन हैं ? *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
क्लासिफ़ाइड
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
🙏माॅं सिद्धिदात्री🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
Loading...