Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Aug 2022 · 1 min read

तिरंगा

श्वेत हरा केसरिया रँग का, सबका मान तिरंगा
दिल में करता वास हमारे सबकी जान तिरंगा

हम अपने प्राणों को इसपर,न्योछावर कर देंगे
यही वतन की आन बान है,सबकी शान तिरंगा

मन हर्षित हो जाता है जब,ये लहराता नभ में
करते शत शत नमन हमारा,है अभिमान तिरंगा

इसने पूरे जग में अपना, लोहा मनवाया है
विश्व गुरु अपने होने की,है पहचान तिरंगा

कसम हमें है झंडे का, अपमान न होने देंगे
हम है भारतवासी इस का, है सम्मान तिरंगा

14-08-2022
डॉ अर्चना गुप्ता

3 Likes · 4 Comments · 239 Views
You may also like:
𝖎 𝖑𝖔𝖛𝖊 𝖚✍️
bhandari lokesh
रुक-रुक बरस रहे मतवारे / (सावन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
नारी जीवन की धारा
Buddha Prakash
दौलत बड़ी या मां का दुलार !
ओनिका सेतिया 'अनु '
ज़मज़म देर तक नहीं रहता
Dr. Sunita Singh
कहानी *"ममता"* पार्ट-5 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
नफरत है मुझे
shabina. Naaz
Writing Challenge- जल (Water)
Sahityapedia
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
ज़िन्दगी मैं चाल तेरी अब समझती जा रही हूँ
Dr Archana Gupta
कितने रूप तुम्हारे देखे
Shivkumar Bilagrami
एक शेर
Ravi Prakash
वादा करके चले गए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*** " ओ मीत मेरे.....!!! " ***
VEDANTA PATEL
सत्य सनातन पंथ चलें सब, आशाओं के दीप जलें।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
“ मूक बधिर ना बनकर रहना ”
DrLakshman Jha Parimal
💐💐परमार्थ: तथा प्रतिपरमार्थ:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
एतबार कर मुझपर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सुन मेरे बच्चे !............
sangeeta beniwal
ये हरियाली
Taran Singh Verma
है प्रशंसा पर जरूरी
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
✍️शर्तो के गुलदस्ते✍️
'अशांत' शेखर
प्रकृति सुनाये चीखकर, विपदाओं के गीत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इससे बड़ा हादसा क्या
कवि दीपक बवेजा
एहसासे कमतरी का
Dr fauzia Naseem shad
शायद ये सांसे सिसक रही है
Ram Krishan Rastogi
■ आदरांजलि
*Author प्रणय प्रभात*
सबसे बेहतर है।
Taj Mohammad
पग पग में विश्वास
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
प्रश्न
विजय कुमार 'विजय'
Loading...