Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 13, 2022 · 1 min read

तिरंगा मेरी जान

तीन वर्णों को मिलने से
बना है यह केतु, ध्वजा
केसरिया, सफेद व हरा
यही ध्वज की अलामत ।

भारत की गौरव तिरंगा
यही भारत की प्रतिष्ठा
इसकी भव्यता को हम
कभी न होने देंगे विरल ।

इसी केतु के लिए हमारे
कई हृदयेश्वर त्यागे प्राण
खेत हो गए इस भव में
पर इसको न झुकने दिए ।

इस ध्वजा को हम भारतीय
मस्तक कटवा कर भी हम
इसे निज कभी न नवने देगे
भारत की स्वाभिमान तिरंगा ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

215 Views
You may also like:
छोटी-छोटी चींटियांँ
Buddha Prakash
तूँ ही गजल तूँ ही नज़्म तूँ ही तराना है...
VINOD KUMAR CHAUHAN
लगा हूँ...
Sandeep Albela
आपकी स्वतन्त्रता
Dr fauzia Naseem shad
एक दिया अनजान साथी के नाम
DR ARUN KUMAR SHASTRI
स्कूल बन गया हूं।
Taj Mohammad
✍️तलाश करो तुम✍️
'अशांत' शेखर
जो बीत गई।
Taj Mohammad
मंजिल
Kanchan Khanna
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
Anamika Singh
पिता
Santoshi devi
💐मनुष्यशरीरस्य शक्ति: सुष्ठु नियोजनं💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चला कर तीर नज़रों से
Ram Krishan Rastogi
डूब जाता हूँ
Varun Singh Gautam
रक्षा बंधन :दोहे
Sushila Joshi
हम पे सितम था।
Taj Mohammad
गम आ मिले।
Taj Mohammad
✍️I am a Laborer✍️
'अशांत' शेखर
कारगिल फतह का २३वां वर्ष
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पुकार सुन लो
वीर कुमार जैन 'अकेला'
🌺🍀दोषा: च एतेषां सत्ता🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ज़िंदगी से बड़ा कोई भी
Dr fauzia Naseem shad
ग़ज़ल / (हिन्दी)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
$ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
THANKS
Vikas Sharma'Shivaaya'
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
तुम कहते हो।
Taj Mohammad
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
शैशव की लयबद्ध तरंगे
Rashmi Sanjay
ये खुशी
Anamika Singh
Loading...