Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 12, 2022 · 1 min read

तल्खिय़ां

सच है कल सब मर जायेंगे दो हिचकियां लेकर!
लेकिन जिंदा हैं सब ज़िंदगी की तल्खिय़ां लेकर!

सुकूं की छाँव मिल जाये तो डेरा डाल देंगे सब!
यूँ ही बंजारे सा फिरते हैं गमों की गठरियां लेकर!

✒ Anoop S.

10 April 2018

#LafzDilse #Theincomparable #Theuniques

2 Likes · 63 Views
You may also like:
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
ठोकर तमाम खा के....
अश्क चिरैयाकोटी
Green Trees
Buddha Prakash
शहीद की आत्मा
Anamika Singh
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
खिला प्रसून।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मुस्कुराना सीख लो
Dr.sima
खींच तान
Saraswati Bajpai
पापा की परी...
Sapna K S
परिवार
Dr Meenu Poonia
Father is the real Hero.
Taj Mohammad
और मैं .....
AJAY PRASAD
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
प्रार्थना
Anamika Singh
रसीला आम
Buddha Prakash
लड़ते रहो
Vivek Pandey
तुम्हें सुकूँ सा मिले।
Taj Mohammad
बद्दुआ।
Taj Mohammad
गज़लें
AJAY PRASAD
💐प्रेम की राह पर-22💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
.✍️वो पलाश के फूल...!✍️
"अशांत" शेखर
मयखाने
Vikas Sharma'Shivaaya'
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
हमें तुम भुल गए
Anamika Singh
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math
लड़के और लड़कियों मे भेद-भाव क्यों
Anamika Singh
आमाल।
Taj Mohammad
विश्व विजेता कपिल देव
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...