Oct 14, 2016 · 1 min read

“तलाश”

“तलाश”
– राजा सिंह
ऐ मेरी मौत !
तू कहाँ कहाँ भटका करती है ?
मैंने तुम्हे तलाशा था ,
जब बाप दारू के नशे में
नंगा नांच रहा था .
ऐ मेरी मौत !
तू उस वक्त कहाँ थी ?
जब मेरी माँ दम तोड़ रही थी
और मै गिडगिड़ा रहा था,
शतरंज खलेते सरकारी डॉक्टर से ,
उसे देखने के लिए .
ऐ मेरी मौत !
तू उस वक्त भी नहीं आई
जब मेरी बहन को
गुंडे रौद रहे थे
और मै बेबस
खड़ा निहार रहा था .
ऐ मेरी मौत !
तू अब भी नहीं आ रही है ,
जबकि लोग मुझे
पागल कहकर पत्थर
मार रहे हैं .
–राजा सिंह

1 Like · 1 Comment · 133 Views
You may also like:
धर्म बला है...?
मनोज कर्ण
मुझे चाहत हैं तेरी.....
Dr. Alpa H.
दोहा छंद- पिता
रेखा कापसे
जो... तुम मुझ संग प्रीत करों...
Dr. Alpa H.
कर्म पथ
AMRESH KUMAR VERMA
💐💐तुमसे दिल लगाना रास आ गया है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सितम देखते हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
पिता के चरणों को नमन ।
Buddha Prakash
यूं हुस्न की नुमाइश ना करो।
Taj Mohammad
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
पिता हैं धरती का भगवान।
Vindhya Prakash Mishra
ये पहाड़ कायम है रहते ।
Buddha Prakash
【7】** हाथी राजा **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ईद
Khushboo Khatoon
पितृ स्तुति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
आप कौन है
Sandeep Albela
** भावप्रतिभाव **
Dr. Alpa H.
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
¡~¡ कोयल, बुलबुल और पपीहा ¡~¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरी धड़कन जूलियट और तेरा दिल रोमियो हो जाएगा
Krishan Singh
परछाई से वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
यह कैसा एहसास है
Anuj yadav
बुध्द गीत
Buddha Prakash
**जीवन में भर जाती सुवास**
Dr. Alpa H.
तेरी आरज़ू, तेरी वफ़ा
VINOD KUMAR CHAUHAN
खिला प्रसून।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
रिश्तों की कसौटी
VINOD KUMAR CHAUHAN
Loading...