Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 3, 2022 · 1 min read

तपिश

” ऐ तपिश तू इतना भी बढ़ कर मत दिखा
यहां लोगो के दिल पिघलने वाले नहीं!!

3 Likes · 2 Comments · 78 Views
You may also like:
खेत
Buddha Prakash
ग़ज़ल
Mukesh Pandey
मुझको ये जीवन जीना है
Saraswati Bajpai
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
शादी से पहले और शादी के बाद
gurudeenverma198
देखो
Dr.Priya Soni Khare
फिर कभी तुम्हें मैं चाहकर देखूंगा.............
Nasib Sabharwal
✍️✍️हमदर्द✍️✍️
"अशांत" शेखर
मां
Umender kumar
धर्म
Vijaykumar Gundal
डगर कठिन हो बेशक मैं तो कदम कदम मुस्काता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
परेशां हूं बहुत।
Taj Mohammad
*स्मृति डॉ. उर्मिलेश*
Ravi Prakash
अग्रवाल समाज और स्वाधीनता संग्राम( 1857 1947)
Ravi Prakash
हमने प्यार को छोड़ दिया है
VINOD KUMAR CHAUHAN
हिम्मत न हारों
Anamika Singh
अश्रुपात्र ... A glass of tears भाग- 2 और 3
Dr. Meenakshi Sharma
प्यार
Swami Ganganiya
फ़ालतू बात यही है
gurudeenverma198
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
"ईद"
Lohit Tamta
मयखाने
Vikas Sharma'Shivaaya'
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
उसूल
Ray's Gupta
राम भरोसे (हास्य व्यंग कविता )
ओनिका सेतिया 'अनु '
ख्वाब रंगीला कोई बुना ही नहीं ।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
फिजूल।
Taj Mohammad
मुझे चाहत हैं तेरी.....
Dr. Alpa H. Amin
Loading...