Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#4 Trending Author
Jul 15, 2022 · 1 min read

तड़पती रही मैं सारी रात

तड़पती रही मैं सारी रात
*******************
मेघा बरसते रहे सारी रात,
तड़पती रही मै सारी रात।
कोई तो आकर मुझे बताए,
कैसे काटू मैं ये अंधेरी रात।।

नभ में दमक रही ऐसे दामिनी
जैसे भटक रही कोई कामिनी।
डर लग रहा था मुझे देख कर,
समझाए मुझे कोई तो कामिनी।।

सावन है तो बरसात भी होगी,
साजन से मुलाकात भी होगी।
मत होवे बैचेन मुलाकात के लिए,
मुलाकात के साथ सुहागरात होगी।।

सावन की आज पहली बारिश है,
वो मिल जाए,बस ये गुजारिश है।
दोनो मिलकर भीगे इस बारिश में,
लगाई खुदा से मैने ये सिफारिश है।

जगाती है मुझे रात भर तेरी यादें,
बारिश में ढूंढती है तुझे मेरी यादें।
महफिल में खूब हंसती हूं मै दोस्तो
तन्हाई में रुला देती मुझे तेरी यादें।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

2 Likes · 2 Comments · 228 Views
You may also like:
मुट्ठी में ख्वाबों को दबा रखा है।
Taj Mohammad
✍️ना तू..! ना मैं...!✍️
'अशांत' शेखर
ख़्वाहिश है तेरी
VINOD KUMAR CHAUHAN
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
वक्त को कब मिला है ठौर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुकरियां_ गिलहरी
Manu Vashistha
मेरे पापा।
Taj Mohammad
मेरे जज्बात
Anamika Singh
ठिकरा विपक्ष पर फोडा जायेगा
Mahender Singh Hans
Your laugh,Your cry.
Taj Mohammad
घातक शत्रु
AMRESH KUMAR VERMA
Time never returns
Buddha Prakash
आज के नौजवान
DESH RAJ
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम
Krishan Singh
Little sister
Buddha Prakash
दर्द की चादर ओढ़ कर।
Taj Mohammad
" परिवर्तनक बसात "
DrLakshman Jha Parimal
आज भी याद है।
Taj Mohammad
समझ में आयेगी
Dr fauzia Naseem shad
विश्व मजदूर दिवस पर दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
भारत
Vijaykumar Gundal
ग़म-ए-दिल....
Aditya Prakash
कुछ ना रहा
Nitu Sah
*ससुराला : ( काव्य ) वसंत जमशेदपुरी*
Ravi Prakash
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
तुम बहुत खूबसूरत हो
Anamika Singh
मेरे मन के भाव
Ram Krishan Rastogi
प्रेम रस रिमझिम बरस
श्री रमण 'श्रीपद्'
तो क्या होगा?
Shekhar Chandra Mitra
Loading...