Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ढाई आखर प्रेम का

यह पद संत कबीर का,
बूझ न पाया कोय,
“ढाई आखर प्रेम का,
पढ़े सो पंडित होय।”
प्रेम की भाषा सब जाने,
क्या राजा, क्या रंक,
प्रेम न कोई भेद करे,
क्या जाति, क्या रंग।
न कोई हिंदू, न कोई मुस्लिम,
न कोई मतभेद,
सबका लहू एक रंग फिर,
क्यों करे मनभेद।
अगड़ा, पिछड़ा एक रंग,
न कोई छूत, अछूत,
सब हैं एक गुरु के सेवक,
यह पक्का सबूत।
‘प्रेम’ सूत्र गुरुदेव का,
इससे वंचित न कोय,
ढाई आखर प्रेम का,
पढ़े सो पंडित होय।

मौलिक ब स्वरचित
©® श्री रमण
बेगूसराय (बिहार)

5 Likes · 4 Comments · 220 Views
You may also like:
✍️टिकमार्क✍️
'अशांत' शेखर
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
आदमी आदमी से डरने लगा है
VINOD KUMAR CHAUHAN
सावन
Arjun Chauhan
सरकारी निजीकरण।
Taj Mohammad
बात होती है सब नसीबों की।
सत्य कुमार प्रेमी
सफल होना चाहते हो
Krishan Singh
तुमसे अगर प्यार अगर सच्चा न होता
gurudeenverma198
✍️✍️जूनून में आग✍️✍️
'अशांत' शेखर
*योग-ज्ञान भारत की पूॅंजी (गीत)*
Ravi Prakash
✍️जन्नतो की तालिब है..!✍️
'अशांत' शेखर
पंख कटे पांखी
सूर्यकांत द्विवेदी
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
माई थपकत सुतावत रहे राति भर।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
रात तन्हा सी
Dr fauzia Naseem shad
आओ हम याद करे
Anamika Singh
'स्मृतियों की ओट से'
Rashmi Sanjay
स्वर्गीय श्री पुष्पेंद्र वर्णवाल जी का एक पत्र : मधुर...
Ravi Prakash
हे मनुष्य!
Vijaykumar Gundal
मैं पिता हूं।
Taj Mohammad
" बहू और बेटी "
Dr Meenu Poonia
✍️बोन्साई✍️
'अशांत' शेखर
तमाम उम्र।
Taj Mohammad
कौन हो तुम….
Rekha Drolia
बेजुबान जानवर अपने दोस्त
Manoj Tanan
अदीब लगता नही है कोई।
Taj Mohammad
Loading...