Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ठीक है…

ठीक है अगर आज तुम बहुत थक गए हो, इतना की कुछ भी ना कर सको. ठीक है अगर आज तुम सारे काम से, लोगों से दूर जाना चाहते हो. अपने दोस्तों से, परिवार से, अपने प्यार से, सबसे दूर. वो लोग जो तुम्हें समझते हैं, तुम्हारे इस बर्ताव को समझेंगे या मैं ये कहूं कि जिनके लिए तुम मायने रखते हो वो लोग. क्यूंकि अक्सर वही लोग साथ देते हैं जिनसे हम कोई उम्मीद नहीं रखते.

कुछ दिन, कुछ हफ़्तों का वक़्त लो, छुट्टियां लो और निकल जाओ कही यूँ ही. कोशिश करो वो सब ढूंढने की जो तुम सच में पाना चाहते हो. पेड़ों के नीचे आराम करो, सितारों की छायाँ में सो जाओ. कुछ समय के लिए सबसे दूर हो जाने का मतलब ये नहीं कि तुम हार मान चुके हो, बल्कि इसका मतलब ये है कि तुम लौटोगे, और बेहतर बनकर लौटोगे.

अपने घर से, दफ्तर से बाहर कदम बढ़ाकर देखो, शायद वो करिश्मा, वो जादू दिख जाये जिसकी तुम्हें तलाश है. लोगो को किताबों की तरह देखो, वो किताबें जो खुद अपनी कहानियां तुम्हें पढ़कर सुनाती हैं. अपनी कहानी दूसरों को पढ़कर सुनाओ. नयी जगहों को तलाशो, उन्हें अपनी यादो में बसा लो, और महसूस करो कि ये सब कितना सुन्दर है.

हमने खुद को बाँध रखा है. कभी भटक कर देखो, शायद वो मंज़िल मिल जाये जिसकी हमेशा तलाश थी. क्या पता जिस राह पर हम चल पड़ें हों, ये वही रास्ता हो जिस पर हम हमेशा चलना चाहते थे.

–प्रतीक

6 Comments · 287 Views
You may also like:
तात्या टोपे बलिदान दिवस १८ अप्रैल १८५९
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मां बाप की दुआओं का असर
Ram Krishan Rastogi
सालो लग जाती है रूठे को मानने में
Anuj yadav
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
Sweet Chocolate
Buddha Prakash
तेरे रोने की आहट उसको भी सोने नहीं देती होगी
Krishan Singh
रात चांदनी का महताब लगता है।
Taj Mohammad
परिवार दिवस
Dr Archana Gupta
फिर एक समस्या
डॉ एल के मिश्र
💐💐प्रेम की राह पर-18💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कौन है
Rakesh Pathak Kathara
दिल की सुनाएं आप जऱा लौट आइए।
सत्य कुमार प्रेमी
सोने की दस अँगूठियाँ….
Piyush Goel
चाहत
Lohit Tamta
तेरी सूरत
DESH RAJ
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नूर
Alok Saxena
आज आदमी क्या क्या भूल गया है
Ram Krishan Rastogi
खूबसूरत तस्वीर
DESH RAJ
फरिश्ता से
Dr.sima
मां शारदा
AMRESH KUMAR VERMA
पिता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
दो पल मोहब्बत
श्री रमण
शेर
dks.lhp
जीने का नजरिया अंदर चाहिए।
Taj Mohammad
मुर्झाए हुए फूल तरछोडे जाते हैं....
Dr. Alpa H. Amin
दिल बंजर कर दिया है।
Taj Mohammad
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
تیری یادوں کی خوشبو فضا چاہتا ہوں۔
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
पुनर्पाठ : एक वर्षगाँठ
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
Loading...