Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 25, 2022 · 1 min read

जीवन में ही सहे जाते हैं ।

यूंँ ही क्यों विचलित हो,
परेशान से इतने हो,
ये पल तो आते जाते हैं,
इसी जीवन में ही सहे जाते हैं ।….(१)

दुख से बचा न कोई है,
दर्द सभी ने गुजारा है,
यूँ दुःख-दर्द तो आते जाते हैं,
इसी जीवन में ही सहे जाते हैं ।….(२)

हैरान होने जैसा है नहीं,
दुनिया की यह कोई नई बात नहीं,
चोट जिस्म में लगते रहते हैं ,
इसी जीवन में ही सहे जाते हैं ।….(३)

हार कोई अपमान नहीं ,
संघर्ष की एक कहानी ही है ,
ये जीत-हार तो लगे रहते हैं ,
इसी जीवन में ही सहे जाते हैं ।….(४)

✍🏼
बुद्ध प्रकाश,
मौदहा हमीरपुर ।

2 Likes · 66 Views
You may also like:
दिया
Anamika Singh
लता मंगेशकर
AMRESH KUMAR VERMA
✍️माटी का है मनुष्य✍️
"अशांत" शेखर
फूलों का नया शौक पाला है।
Taj Mohammad
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मुट्ठी में ख्वाबों को दबा रखा है।
Taj Mohammad
अकेलापन
AMRESH KUMAR VERMA
अमर कोंच-इतिहास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌺प्रेम की राह पर-54🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
【 23】 प्रकृति छेड़ रहा इंसान
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
Ravi Prakash
✍️KITCHEN✍️
"अशांत" शेखर
मुँह इंदियारे जागे दद्दा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
चार
Vikas Sharma'Shivaaya'
कोई ना अपना रहनुमां है।
Taj Mohammad
मेरे गांव में होने लगा है शामिल थोड़ा शहर:भाग:2
AJAY AMITABH SUMAN
नीति के दोहे
Rakesh Pathak Kathara
माँ बाप का बटवारा
Ram Krishan Rastogi
"शादी की वर्षगांठ"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
¡~¡ कोयल, बुलबुल और पपीहा ¡~¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हाइकु__ पिता
Manu Vashistha
ऐ दिल सब्र कर।
Taj Mohammad
✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️
"अशांत" शेखर
मन्नू जी की स्मृति में दोहे (श्रद्धा सुमन)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मंदिर
जगदीश लववंशी
💐प्रेम की राह पर-56💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...