Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#10 Trending Author
Sep 5, 2016 · 1 min read

जीवन में जब सुख मिलें हमें

जीवन में जब सुख मिलें हमें
तो करते याद न ईश्वर को
लेकिन दुख मिलते अगर यहाँ
बस देते दोष मुकद्दर को

चलते ही चलते रहे सदा
आँखों में अनगिन स्वप्न लिये
उनको ही पूरा करने को
बस एक यहाँ दिन रात किये
मशरूफ रहे यूँ जीवन में
कभी चैन मिला न पल भर को
जीवन में जब सुख मिलें हमें …..

जिनकी खुशियों की खातिर थे
हमने बेचे अपने सपने
सब फ़र्ज़ निभाये थे हँसकर
कितने त्यागे थे सुख अपने
उन अपनों की बदली नज़रें
आँखों में भरे समंदर को
जीवन में जब सुख मिलें हमें …..

सब पा लेने की चाहत थी
मन के ऊपर हावी था धन
जब आँख खुली तो ये जाना
पतझड़ आया बीता सावन
काया जब माया से हारी
तो देख डरे इस मंज़र को
जीवन में जब सुख मिलें हमें …..

डॉ अर्चना गुप्ता

2 Comments · 135 Views
You may also like:
*अमृत-सरोवर में नौका-विहार*
Ravi Prakash
ए- वृहत् महामारी गरीबी
AMRESH KUMAR VERMA
प्रेम
Vikas Sharma'Shivaaya'
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
जवानी
Dr.sima
💐प्रेम की राह पर-24💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता
Shailendra Aseem
शाइ'राना है तबीयत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हिंदी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H. Amin
बदनाम होकर।
Taj Mohammad
गीत - मुरझाने से क्यों घबराना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
मौसम की तरह तुम बदल गए हो।
Taj Mohammad
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
चाय-दोस्ती - कविता
Kanchan Khanna
सुन्दर घर
Buddha Prakash
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
संतुलन-ए-धरा
AMRESH KUMAR VERMA
मां-बाप
Taj Mohammad
'बेदर्दी'
Godambari Negi
पिता हैं नाथ.....
Dr. Alpa H. Amin
विश्व पुस्तक दिवस
Rohit yadav
पीला पड़ा लाल तरबूज़ / (गर्मी का गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता
Ram Krishan Rastogi
हसद
Alok Saxena
सहारा मिल गया होता
अरशद रसूल /Arshad Rasool
Loading...