Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#17 Trending Author
May 10, 2022 · 1 min read

**जीवन में भर जाती सुवास**

कुछ तो सूना होता
कुछ तो जाना होता
कुछ तो समझा होता
कुछ तो करते कोशिश
कुछ तो आजमाते तरकीब
कुछ तो अपनाते समझदारी
कुछ तो रखते तकेदारी
कुछ तो निभाते रिश्ते
कुछ तो पूरा करते फर्ज
कुछ तो रखा होता भरोसा
कुछ तो करते निःस्वार्थ भरे वादे
कुछ तो करते ख़याल मान अपमान का
कुछ तो ऐसा होता
जिससे खिल जाती जिंदगी
भर जाती जीवन में सुवास……!!!!!!

74 Views
You may also like:
ये जमीं आसमां।
Taj Mohammad
विश्वासघात
Mamta Singh Devaa
✍️सिर्फ मिसाले जिंदा रहेगी...!✍️
"अशांत" शेखर
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
इन्तजार किया करतें हैं
शिव प्रताप लोधी
हम भारत के लोग
Mahender Singh Hans
मेरा पेड़
उमेश बैरवा
माँ तेरी जैसी कोई नही।
Anamika Singh
✍️तंगदिली✍️
"अशांत" शेखर
तो क्या होगा?
Shekhar Chandra Mitra
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
पुस्तक समीक्षा- बुंदेलखंड के आधुनिक युग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
कुंडलिया छंद ( योग दिवस पर)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कितनी पीड़ा कितने भागीरथी
सूर्यकांत द्विवेदी
हमारी धरती
Anamika Singh
मां ने।
Taj Mohammad
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
दिल का मोल
Vikas Sharma'Shivaaya'
बंकिम चन्द्र प्रणाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"कभी मेरा ज़िक्र छिड़े"
Lohit Tamta
नन्हा बीज
मनोज कर्ण
**अशुद्ध अछूत - नारी **
DR ARUN KUMAR SHASTRI
निभाता चला गया
वीर कुमार जैन 'अकेला'
एक दिन तू भी।
Taj Mohammad
ढूढ़ा जाऊंगा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
" फ़ोटो "
Dr Meenu Poonia
"ममता" (तीन कुण्डलिया छन्द)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
होना सभी का हिसाब है।
Taj Mohammad
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
Loading...