Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 11, 2022 · 1 min read

जीने का नजरिया अंदर चाहिए।

जीने का नजरिया अंदर चाहिए।
नदिया हूं गिरने को समंदर चाहिए।।1।।

यूं फैली हो खुशबू फिज़ाओं में।
हमको तो ऐसा एक मंजर चाहिए।।2।।

प्यार से राज करना मुश्किल है।
जीतने को दिले-सिकन्दर चाहिए।।3।।

कलाम ना पता कुछ कुरान का।
मौजीजा करने को मंतर चाहिए।।4।।

अगर साबित करना है खुद को।
तो मेहनत को जमीं बंजर चाहिए।।5।।

खुश तो रखले हम जिन्दगी को।
मस्त-मौला दिल कलन्दर चाहिए।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 75 Views
You may also like:
आंसूओं की नमी का क्या करते
Dr fauzia Naseem shad
एक था ब्लैक टाइगर रविन्द्र कौशिक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
हमारी ग़ज़लों पर झूमीं जाती है
Vinit kumar
हिसाब मोहब्बत का।
Taj Mohammad
✍️कोई मसिहाँ चाहिए..✍️
'अशांत' शेखर
✍️तलाश करो तुम✍️
'अशांत' शेखर
भक्तिरेव गरीयसी
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हो गयी आज तो हद यादों की
Anis Shah
✍️किसान की आत्मकथा✍️
'अशांत' शेखर
हौंसलों की कमी नहीं लेकिन ।
Dr fauzia Naseem shad
लोकमाता अहिल्याबाई होलकर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जीवन के उस पार मिलेंगे
Shivkumar Bilagrami
'परिवर्तन'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मुक्तक
AJAY PRASAD
साथ किसने निभाया है
Dr fauzia Naseem shad
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
ईमानदारी
AMRESH KUMAR VERMA
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
प्रकृति कविता
Harshvardhan "आवारा"
कि राज दिल का उसको, कभी बता नहीं सके
gurudeenverma198
अब कैसे कहें तुमसे कहने को हमारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️अज़ीब इत्तेफ़ाक है✍️
'अशांत' शेखर
डिजिटल इंडिया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
बन कर शबनम।
Taj Mohammad
हमारी धरती
Anamika Singh
तिरंगा
लक्ष्मी सिंह
कोशिश
Anamika Singh
दुश्वारियां
Taj Mohammad
Loading...