Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#4 Trending Author
Jun 27, 2022 · 1 min read

जिन्दगी

मैने खाया है जिन्दगी से इतनी ठोकर
अब किसी चोट से दर्द नही होता
खोने को कुछ बचा नही मेरे पास
इसलिए अब किसी चीज का डर नही होता
दर्द इतना मिला इस जिन्दगी से
अब किसी दर्द का एहसास दिल पर नही होता
रो-रोकर अब आँखे भी थक गए
इसलिए आँखो से आँसु भी
अब नही बहता।

~अनामिका

3 Likes · 4 Comments · 87 Views
You may also like:
सोचा था जिसको मैंने
Dr fauzia Naseem shad
Gazal sagheer
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
दीपावली
Dr Meenu Poonia
विश्वास
Harshvardhan "आवारा"
सजल : तिरंगा भारत का
Sushila Joshi
“ हमर महिसक जन्म दिन पर आशीर्वाद दियोनि ”
DrLakshman Jha Parimal
जनसंख्या नियंत्रण कानून कब ?
Deepak Kohli
ना मायूस हो खुदा से।
Taj Mohammad
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
" दिव्य आलोक "
DrLakshman Jha Parimal
कुत्ते भौंक रहे हैं हाथी निज रस चलता जाता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मयखाने
Vikas Sharma'Shivaaya'
✍️खलबली✍️
'अशांत' शेखर
आप कौन है
Sandeep Albela
दुनिया की आदतों में
Dr fauzia Naseem shad
दिल का मोल
Vikas Sharma'Shivaaya'
मेरा साया
Anamika Singh
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
💐💐सेवा अर्थात् विलक्षणं सुखं💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*संस्मरण*
Ravi Prakash
पहला प्यार
Dr. Meenakshi Sharma
चाहत की हद।
Taj Mohammad
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मृत्यु
Anamika Singh
समुद्री जहाज
Buddha Prakash
✍️आखरी कोशिश✍️
'अशांत' शेखर
✍️क्रांतिसूर्य✍️
'अशांत' शेखर
तुमको खुशी मिलती है।
Taj Mohammad
परिंदों से कह दो।
Taj Mohammad
कमियाँ
Anamika Singh
Loading...