Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Oct 1, 2016 · 1 min read

जिन्दगी

जिन्दगी ये जिन्दगी अक्सर हमे ऐसे मोड पर लाती है..
जहां कुछ नहीं,पर सब कुछ की आशा
जहां अन्धकार, पर नही निराशा
जहां उम्मीद किसी के आने की
जहां चाह बस थोडा सा पाने की
जिन्दगी ये जिन्दगी अक्सर हमे एेसे मोड पर लाती है..
जब कोई हमे थामता है
निखारता और सवांरता है
हम पत्थर से पारस हो जाते है
उसके लिए उसके जैसे बन जाते है
बस मोड यही मुड जाता है
वो हमे छोड चला जाता है
जिन्दगी ये जिन्दगी कैसे कैसे रंग दिखाती है
सुखी होना शायद अधिकार है सभी का
क्योकि दुख पर बहुत कम हक जताते है
बन्धनो मे बांधना एक डोर का भी मुमकिन है
खुद को समर्पित कर ,सुखी होना मुश्किल है
जिन्दगी ये जिन्दगी हमे कहां से कहां ले आती है

187 Views
You may also like:
वफा की मोहब्बत।
Taj Mohammad
✍️शरारत✍️
"अशांत" शेखर
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
जगाओ हिम्मत और विश्वास तुम
gurudeenverma198
गंगा अवतरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
होली का संदेश
Anamika Singh
श्रीराम धरा पर आए थे
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हिन्दू साम्राज्य दिवस
jaswant Lakhara
पिता की छांव
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
✍️आओ गुल गुलज़ार वतन करे✍️
"अशांत" शेखर
* तु मेरी शायरी *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पहला प्यार
Dr. Meenakshi Sharma
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
"बीते दिनों से कुछ खास हुआ है"
Lohit Tamta
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
वक्त अब कलुआ के घर का ठौर है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️कोरोना✍️
"अशांत" शेखर
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
नयी बहुरिया घर आयी*
Dr. Sunita Singh
अखंड भारत की गौरव गाथा।
Taj Mohammad
नारी को सदा राखिए संग
Ram Krishan Rastogi
हवाओं को क्या पता
Anuj yadav
माखन चोर
N.ksahu0007@writer
प्यार
Satish Arya 6800
तुम्हारे शहर में कुछ दिन ठहर के देखूंगा।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
!!*!! कोरोना मजबूत नहीं कमजोर है !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कर्म-पथ से ना डिगे वह आर्य है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
हमलोग
Dr.sima
आ सजाऊँ भाल पर चंदन तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
यह तो वक्ती हस्ती है।
Taj Mohammad
Loading...