Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*जिन्दगी*

ईश्वर का उपहार जिन्दगी
एक निराला प्यार जिन्दगी
साहस और लगन मत छोड़ो
इन का है शृंगार जिन्दगी
हरदम खुशबू तुम बिखराओ
है फूलों का हार जिन्दगी
गीत सुहाने गाते जाओ
वीणा की झंकार जिन्दगी
गम से अब तो नाता तोड़ो
खुशियों की भरमार जिन्दगी
गर न वक्त के साथ चलो तो
बन जाती है खार जिन्दगी

*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

126 Views
You may also like:
एक दौर था हम भी आशिक हुआ करते थे
Krishan Singh
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
मेरे पापा...
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
✍️✍️बूद✍️✍️
"अशांत" शेखर
*अध्यात्म ज्योति :* अंक 1 ,वर्ष 55, प्रयागराज जनवरी -...
Ravi Prakash
कभी कभी।
Taj Mohammad
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
हम हर गम छुपा लेते हैं।
Taj Mohammad
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
"अशांत" शेखर
मौसम बदल रहा है
Anamika Singh
You are my life.
Taj Mohammad
✍️कबीरा बोल...✍️
"अशांत" शेखर
चलो जिन्दगी को फिर से।
Taj Mohammad
शब्दों के एहसास गुम से जाते हैं।
Manisha Manjari
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
आत्महत्या क्यों ?
Anamika Singh
बारिश हमसे रूढ़ गई
Dr. Alpa H. Amin
✍️✍️नींद✍️✍️
"अशांत" शेखर
जाति- पाति, भेद- भाव
AMRESH KUMAR VERMA
जीवन
vikash Kumar Nidan
दिल से निकले हुए कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
अश्रुपात्र... A glass of tears भाग - 4
Dr. Meenakshi Sharma
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
मंजिले जुस्तजू
Vikas Sharma'Shivaaya'
तूँ ही गजल तूँ ही नज़्म तूँ ही तराना है...
VINOD KUMAR CHAUHAN
Loading...