Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 25, 2022 · 1 min read

जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।

कश्मकश भरी जिन्दगी है,
कहती एक कहानी है,
बेहाल है जीवन जीना,
उम्मीद के भी हाथ खाली है,
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।

साया प्रताड़ित गरीबी का ,
मांँगती कोई जीवन साथी है,
रुकते नहीं अश्क़ आँखो में,
बेदर्द सताती हुई जवानी है ।
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।

कड़ी धूप में ओढ़ घूँघट को,
चन्द पैसो के लिए पसीना बहाती है,
चीरती हुई नग्न निगाहें,
बेपर्दा होने का एहसास दिलाती है ।
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।

हुस्न के इस चक्कर में,
मासूमियत चेहरे में भारी है,
पेट की आग बुझाने को,
चाँद में भी दाग निभानें है,
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।

जीवन की नैया अस्त-व्यस्त है,
सुकून की बारिशों के लिए धरा प्यासी है,
दुर्दशा गरीबी में दम तोड़ती आबरू है,
मिट गये भाग्य के निशान,
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।

रचनाकार –
बुद्ध प्रकाश,
मौदहा ज़िला हमीरपुर (उत्तर प्रदेश) ।

5 Likes · 4 Comments · 123 Views
You may also like:
पिता घर की पहचान
vivek.31priyanka
प्रकृति का क्रोध
Anamika Singh
चाहतें है राहतें है।
Taj Mohammad
*फल- राजा कहलाता आम (गीतिका)*
Ravi Prakash
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
तेरी आरज़ू, तेरी वफ़ा
VINOD KUMAR CHAUHAN
हो गयी आज तो हद यादों की
Anis Shah
कोई ख़्वाहिश
Dr fauzia Naseem shad
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कुछ दर्द।
Taj Mohammad
ट्रेजरी का पैसा
Mahendra Rai
हम भी
Dr fauzia Naseem shad
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
एक पल में जीना सीख ले बंदे
Dr.sima
बाबू जी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
दिल्लगी दिल से होती है।
Taj Mohammad
रक्षा बंधन
विजय कुमार अग्रवाल
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
'अशांत' शेखर
खुशियाँ ही अपनी हैं
विजय कुमार अग्रवाल
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आंधी में दीया
Shekhar Chandra Mitra
तिरंगा
Dr Archana Gupta
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
✍️हद ने दूरियां बदली✍️
'अशांत' शेखर
“ कॉल ड्यूटी ”
DrLakshman Jha Parimal
गरीब आदमी।
Taj Mohammad
पत्थरबाज
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
मैं रात-दिन
Dr fauzia Naseem shad
Loading...