#15 Trending Author
Jan 17, 2022 · 1 min read

जिन्दगी रहते भी

जीवन
मेरे रहते हुए भी
चल रहा जिनका सरलता से,
सहजता से और
हंसी खुशी
जिनकी जिन्दगी में मैं अब भी नहीं
शामिल
कहने को तो उनसे सबसे करीबी
खून का रिश्ता है लेकिन
जिन्दगी रहते भी
किसी को एक पल के लिए भी
याद ही न करना
यह कोई रिश्ता नहीं
दिल और आत्मा मर चुकी है
ऐसे लोगों की
जीते जी
यह लोग केवल एक शरीर मात्र हैं
इनसे कोई भी उम्मीद बांधनी
बिल्कुल फिजूल है
अपनी जान बची रहे इनसे
बस अब तो इतना ही काफी है।

मीनल
सुपुत्री श्री प्रमोद कुमार
इंडियन डाईकास्टिंग इंडस्ट्रीज
सासनी गेट, आगरा रोड
अलीगढ़ (उ.प्र.) – 202001

82 Views
You may also like:
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
हम भी नज़ीर बन जाते।
Taj Mohammad
बुंदेली दोहा- गुदना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
साल गिरह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पेड़ों का चित्कार...
Chandra Prakash Patel
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:36
AJAY AMITABH SUMAN
जी हाँ, मैं
gurudeenverma198
💐प्रेम की राह पर-30💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हिरण
Buddha Prakash
*माँ छिन्नमस्तिका 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
महाराणा का शौर्य
Ashutosh Singh
कैसी है ये पीर पराई
VINOD KUMAR CHAUHAN
सागर बोला, सुन ज़रा
सूर्यकांत द्विवेदी
Only for L
श्याम सिंह बिष्ट
खुशबू चमन की किसको अच्छी नहीं लगती।
Taj Mohammad
शिव स्तुति
अभिनव मिश्र अदम्य
ऊपज
Mahender Singh Hans
पिता
Shankar J aanjna
मकड़जाल
Vikas Sharma'Shivaaya'
ये कैसा बेटी बाप का रिश्ता है?
Taj Mohammad
सुमंगल कामना
Dr.sima
सारी फिज़ाएं छुप सी गई हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
ग्रीष्म ऋतु भाग ५
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
पहचान लेना तुम।
Taj Mohammad
दादी की कहानी
दुष्यन्त 'बाबा'
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
धागा भाव-स्वरूप, प्रीति शुभ रक्षाबंधन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...