Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jun 2022 · 1 min read

जिन्दगी का जमूरा

थक गई हूँ अब मै
इस जिन्दगी की जमूरा बनकर
कब तक कमाल कर दिखाऊँ मै
बहुत थक गई हूँ मै
अब इस जिन्दगी से
इससे अच्छा हमेशा के लिए
चूपचाप सो जाऊँ मै।

~अनामिका

Language: Hindi
Tag: शेर
6 Likes · 7 Comments · 204 Views
You may also like:
फूल
Alok Saxena
तंग नजरिए
shabina. Naaz
कुड़माई (कुंडलिया)
Ravi Prakash
खुशियाँ ही अपनी हैं
विजय कुमार अग्रवाल
कैसे प्रणय गीत लिख जाऊँ
कुमार अविनाश केसर
आता है याद सबको ही बरसात में छाता।
सत्य कुमार प्रेमी
रावण के मन की व्यथा
Ram Krishan Rastogi
पहले प्यार में
श्री रमण 'श्रीपद्'
कविता संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
* मनवा क्युं दुखियारा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राहें
Sidhant Sharma
✍️रात साजिशों में है✍️
'अशांत' शेखर
मानवता
Dr.sima
देश के गद्दार
Shekhar Chandra Mitra
कहां पर
Dr fauzia Naseem shad
इश्क के आलावा भी।
Taj Mohammad
भारतीय युवा
AMRESH KUMAR VERMA
“पिया” तुम बिन
DESH RAJ
सब्र रख बंदे...
Seema 'Tu hai na'
बाल एवं हास्य कविता: मुर्गा टीवी लाया है।
Rajesh Kumar Arjun
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
एक मुर्गी की दर्द भरी दास्तां
ओनिका सेतिया 'अनु '
पढ़ी लिखी लड़की
Swami Ganganiya
Air Force Day
Aruna Dogra Sharma
साढ़े सोलह कदम
सिद्धार्थ गोरखपुरी
सन्त कवि रैदास पर दोहा एकादशी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
गीत... कौन है जो
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
क्षणिकायें-पर्यावरण चिंतन
राजेश 'ललित'
गुज़र रही है जिंदगी...!!
Ravi Malviya
गम को भी प्यार दो!
Anamika Singh
Loading...