Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jan 2023 · 1 min read

*जिजीविषा (कुंडलिया)*

जिजीविषा (कुंडलिया)
_______________________________
जीने को प्रभु ने दिए ,सबको सौ – सौ साल
सुंदर भाव जिजीविषा , सुंदर रखिए ख्याल
सुंदर रखिए ख्याल , हास्य के मोती चुनिए
कभी निराशा हार , न अवसादों को चुनिए
कहते रवि कविराय , घूँट कड़वे पीने को
मिलें भले सौ बार , छोड़िए मत जीने को
_______________________________
जिजीविषा = जीने की चाह
________________________________
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

1 Like · 59 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
" अभिव्यक्ति "
DrLakshman Jha Parimal
खूबसूरत तोहफा।
खूबसूरत तोहफा।
Taj Mohammad
खुशी बेहिसाब
खुशी बेहिसाब
shabina. Naaz
चन्द्रशेखर आज़ाद...
चन्द्रशेखर आज़ाद...
Kavita Chouhan
■ आलेख / संकीर्णता से मुक्त नहीं मुक्तिबोध की नगरी
■ आलेख / संकीर्णता से मुक्त नहीं मुक्तिबोध की नगरी
*Author प्रणय प्रभात*
'सनातन ज्ञान'
'सनातन ज्ञान'
Godambari Negi
ख्वाहिशों का टूटता हुआ मंजर....
ख्वाहिशों का टूटता हुआ मंजर....
Jyoti Khari
लेट्स मि लिव अलोन
लेट्स मि लिव अलोन
gurudeenverma198
I am Yash Mehra
I am Yash Mehra
Yash mehra
इश्क़ नहीं हम
इश्क़ नहीं हम
Varun Singh Gautam
Success_Your_Goal
Success_Your_Goal
Manoj Kushwaha PS
अगर गौर से विचार किया जाएगा तो यही पाया जाएगा कि इंसान से ज्
अगर गौर से विचार किया जाएगा तो यही पाया जाएगा कि इंसान से ज्
Seema Verma
*आत्मा की वास्तविक स्थिति*
*आत्मा की वास्तविक स्थिति*
Shashi kala vyas
नया चिकित्सक
नया चिकित्सक
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
कोई तो जाके उसे मेरे दिल का हाल समझाये...!!
कोई तो जाके उसे मेरे दिल का हाल समझाये...!!
Ravi Malviya
*टैगोर काव्य गोष्ठी/ संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ*
*टैगोर काव्य गोष्ठी/ संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ*
Ravi Prakash
** बहाना ढूंढता है **
** बहाना ढूंढता है **
surenderpal vaidya
शब्द वाणी
शब्द वाणी
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
***
*** " हमारी इसरो शक्ति...! " ***
VEDANTA PATEL
नीर
नीर
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
*घर आँगन सूना - सूना सा*
*घर आँगन सूना - सूना सा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
कच्चे धागे का मूल्य
कच्चे धागे का मूल्य
Seema 'Tu hai na'
दीवानी मीरा
दीवानी मीरा
Shekhar Chandra Mitra
इन्तज़ार का दर्द
इन्तज़ार का दर्द
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गंगा दशहरा
गंगा दशहरा
डॉ.श्री रमण 'श्रीपद्'
जहां तक रास्ता दिख रहा है वहां तक पहुंचो तो सही आगे का रास्त
जहां तक रास्ता दिख रहा है वहां तक पहुंचो तो सही आगे का रास्त
dks.lhp
✍️टिकमार्क✍️
✍️टिकमार्क✍️
'अशांत' शेखर
मैं उसी पल मर जाऊंगा
मैं उसी पल मर जाऊंगा
श्याम सिंह बिष्ट
जब नयनों में उत्थान के प्रकाश की छटा साफ दर्शनीय हो, तो व्यर
जब नयनों में उत्थान के प्रकाश की छटा साफ दर्शनीय हो, तो व्यर
नव लेखिका
शिवरात्रि
शिवरात्रि
Satish Srijan
Loading...