Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

जिंदगी तुम रूठ ना जाना …

जिंदगी ने कही यह बात मुझसे रोते हुए ,
क्यों तुमने मुझे मौत से जुदा कर दिया।

अभी तो नींद आई थी चैन से सो रही थी ,
क्यों तुमने मेरी नींद में खलल डाल दिया।

थक गई हूं वक्त के कारवां के पीछे भागते ,
मायूस हो कारवां तो मैने खुद ही छोड़ दिया।

जमाना तेज था वक्त के साथ चलता रहा,
मैं न मिला सकी कदम,तो साथ छोड़ दिया।

मुझसे तो मेरी ही ख्वाइशों ने फरेब किया,
तो खफा होकर अपना ही दिल तोड़ दिया।

मेरी महबूब ए इलाही से मुलाकात होनी थी,
क्यों मुझे उनके ख्यालों से जुदा कर दिया।

मेरी मय्यत पर मत रोना”अनु”तुम्हें मेरी कसम ,
रूठ जायूंगी मैं, गर तुमने मुझे फिर जगा दिया।

5 Likes · 6 Comments · 257 Views
You may also like:
ऐ!मेरी बेटी
लक्ष्मी सिंह
फिक्र ना है किसी में।
Taj Mohammad
अजीब मनोस्थिति "
Dr Meenu Poonia
मै वह हूँ।
Anamika Singh
अब हमें तुम्हारी जरूरत नही
Anamika Singh
साथ भी दूंगा नहीं यार मैं नफरत के लिए।
सत्य कुमार प्रेमी
ज़ब्त क्यों मेरा आज़माते हो
Dr fauzia Naseem shad
प्राकृतिक उपचार
Vikas Sharma'Shivaaya'
प्रेम
Vikas Sharma'Shivaaya'
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
दोहावली...(११)
डॉ.सीमा अग्रवाल
चल कहीं
Harshvardhan "आवारा"
कहता है ये दिल मेरा,
Vaishnavi Gupta
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
वनवासी संसार
सूर्यकांत द्विवेदी
पाखंडी मानव
ओनिका सेतिया 'अनु '
“हिमांचल दर्शन “
DrLakshman Jha Parimal
कुछ ना बाकी है उसकी नजरों से।
Taj Mohammad
अब कोई कुरबत नहीं
Dr. Sunita Singh
“श्री चरणों में तेरे नमन, हे पिता स्वीकार हो”
Kumar Akhilesh
शहीदों का यशगान
शेख़ जाफ़र खान
हम बस देखते रहे।
Taj Mohammad
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
मर्द को भी दर्द होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मूकदर्शक
Shyam Sundar Subramanian
ज़िंदगी का हीरो
AMRESH KUMAR VERMA
✍️गुलिस्ताँ सरज़मी के बंदिश में है✍️
"अशांत" शेखर
ज़मीं की गोद में
Dr fauzia Naseem shad
“ मेरे राम ”
DESH RAJ
Loading...