Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

जासूसी उपन्यासकार वेदप्रकाश शर्मा के साथ

आज हमारे बीच हिंदी जासूसी उपन्यासकारों में प्रमुख स्तम्भ वेदप्रकाश शर्मा नहीं हैं, हालाँकि वे पॉकेट बुक्स व लुगदी साहित्य के पुरोधा थे, तथापि उनके उपन्यास ‘वर्दी वाला गुंडा’ की लगभग 10 करोड़ प्रतियाँ बिकी थी, जो किसी भी भारतीय नामवरी-साहित्यकारों की कृतियों के लिए संभव नहीं रहा है। पाठकों में रोचकता लाने के मामले में उनके उपन्यास गोदान, मैला आँचल आदि से कतई कम नहीं है।

कुछ वर्ष पूर्व ही पटना पुस्तक मेला से लौटते वक़्त राजेंद्रनगर टर्मिनल के बुकस्टॉल में वेदप्रकाश शर्मा जी के जासूसी उपन्यास ‘देवकांता-संतति’ की सभी 14 पार्ट देखा और फ़ौरन खरीद लिया, जो कि मैं कई सालों से खोज रहा था । एक तिलिस्मी, रहस्यमयी और जासूसी लेखक का जादुई अंदाज़ में परलोक सिधार जाना, न केवल दिल में टीस उभार देता है, अपितु आँखों में अश्रु भी ला देते हैं ।

मैंने उनके लगभग नॉवेल्स को पढ़ा है । वे व्यक्तिगत रहस्यमयी भी हैं, क्योंकि अपने नाम के साथ-साथ वे ‘केशव पंडित’ के नाम से भी सराहे गए ! एक पाठक की तरफ से ऐसे धुरन्धर लेखक को श्रद्धाञ्जलि देते हुए हम पाठकों को यह हमेशा अफ़सोस रहेगा कि उनके सभी नॉवेल के पात्र-नायक हर परिस्थितियों में विजय प्राप्त कर लेते थे, परंतु हमारे प्रिय लेखक कैंसर को मात देने में पीछे कैसे रह गए ?

3 Likes · 2 Comments · 284 Views
You may also like:
पेश आना अब अदब से।
Taj Mohammad
पिता
रिपुदमन झा "पिनाकी"
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
मर्द को भी दर्द होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
काश तुम
Dr fauzia Naseem shad
A Departed Soul Can Never Come Again
Manisha Manjari
अब हमें तुम्हारी जरूरत नही
Anamika Singh
*आजादी का अमृत महोत्सव (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
【21】 *!* क्या आप चंदन हैं ? *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हौसला खुद को
Dr fauzia Naseem shad
नजर तो मुझको यही आ रहा है
gurudeenverma198
पिता की अभिलाषा
मनोज कर्ण
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
*अमूल्य निधि का मूल्य (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
जब भी सोचेंगे
Dr fauzia Naseem shad
देखो
Dr.Priya Soni Khare
अल्फाज़ ए ताज भाग-6
Taj Mohammad
चुरा कर दिल मेरा,इल्जाम मुझ पर लगाती हो (व्यंग्य)
Ram Krishan Rastogi
कहाँ तुम पौन हो
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नैय्या की पतवार
DESH RAJ
पुस्तकें
डॉ. शिव लहरी
कोई हमारा ना हुआ।
Taj Mohammad
कब मेरी सुधी लोगे रघुराई
Anamika Singh
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
सेतुबंध रामेश्वर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मोहब्बत की दर्द- ए- दास्ताँ
Jyoti Khari
स्वर्ग नरक का फेर
Dr Meenu Poonia
✍️हाथ के सारे तिरंगे ऊँचे लहराये..!✍️
"अशांत" शेखर
✍️✍️ए जिंदगी✍️✍️
"अशांत" शेखर
बेरोजगारी जवान के लिए।
Taj Mohammad
Loading...