Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#3 Trending Author
Jun 5, 2022 · 2 min read

जाको राखे साईयाँ मार सके न कोय

मेरे घर के आगे हे
सेमल का पेड़ है।
पेड़ काफी ऊँचा,बड़ा
और घना है ।

उस पर कई चिड़ियों ने
अपना डेरा डाल रखा है।
उस पर कौआ और चील
का भी हें बसेरा।

चील करता रहता था
कौआ और चिड़ियों को परेशान ,
यह सब देख कर मैं भी हो जाती थी हेरान।

पर चील को कहाँ इस बात का
एहसास हुआ करता था।
वह तो अपने ताकत के
अंहकार में जीता रहता था।

एक दिन पंतग के धागों
मै चील फँस गया ।
और धागों के संग वह
उल्टा लटक गया।

यह सब देख वहाँ कौआ
काँव- काँव करने लगा,
चील की मदद करने के लिए
अन्य चिड़ियों को बुलाने लगा।

यह सब आवाज सुनकर मेरा
भी ध्यान उधर गया
और मैंने देखा की चील
उल्टा है टंग गया ।

वह उल्टा टंगा हुआ था
मेरी तरफ ऐसे देख रहा था,
मानों वह हमसे मदद की
उम्मिद जता रहा हो।

इस क्रम में तब तक काफी
रात हो चुकी थी,
और मैं क्या करूँ
इस प्रश्न में घिरी हुई थी।
साथ मे बच्चे भी उसे देख
परेशान थे।

रात काफी हो चुकी थी और
अब कुछ नहीं हो सकता ।
यह सोच हम लोग सोने चले गए।

सुबह उठी तो ऐसा लग रहा था
जैसे चील मर गया है।
अफसोस जताते हुए हम लोग
अपने- अपने काम में लग चुके थे।

दोपहर के समय बूँद- बूँद
थोड़ी बारिश होने लगी।
बारिश की बूॅदे पड़ते ही
चील फड़फड़ाने लगा।

यह देख मेरे बेटे और बेटी ने
आवाज लगाई ।
देखो मम्मी चील अभी भी जिन्दा है।
इतने देर में मेरे पति भी अस्पताल से आए ।
फोन निकाले और लग गये हेल्प लाइन नंबर लगाने में।

फोन की घंटी बज गई ।
पति ने सारी कहानी बताई ।
आधे घंटे के अंदर
फायर बिग्रेड की गाड़ी आई।

सबने सीढी लगाकर
चील को नीचे उतारा।
चील भी थोड़ी देर
बैठा और सुसताया।
फिर आसमान की ओर
अपना पंख फैलाया।

खुशी सबको इस बात की हो रही थी,
की लगभग 36 घंटे बाद भी
चील जिंदा बच गया।
इसलिए कहा गया है,

*जाको राखे साईयाँ
मार सके न कोय*

इसके बाद चील मे एक
अजीब परिवर्तन आया ।
वह कौआ और चिड़ियों
को सताना छोड़ चुका था ।
और वह हर रोज़ मेरे छत के मुंडेर पर
आकर बैठ जाता है।
जैसे हम सब को वह धन्यवाद दे रहा हो।

~अनामिका

4 Likes · 11 Comments · 170 Views
You may also like:
आईना देखना पहले
gurudeenverma198
जुबां खामोश रहती है
Anamika Singh
✍️बात मुख़्तसर बदल जायेगी✍️
'अशांत' शेखर
सबसे बेहतर है।
Taj Mohammad
पापा क्यूँ कर दिया पराया??
Sweety Singhal
जब भी देखा है दूर से देखा
Anis Shah
पानी के लिए लड़ेगी दुनिया, नहीं मिलेगा चुल्लू भर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दूर रहकर तुमसे जिंदगी सजा सी लगती है
Ram Krishan Rastogi
वक्त की कीमत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️लोग जमसे गये है।✍️
'अशांत' शेखर
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
घड़ी और समय
Buddha Prakash
पैसा
Arjun Chauhan
हमें तुम भुल गए
Anamika Singh
सुकूं का प्यासा है।
Taj Mohammad
पढ़ी लिखी लड़की
Swami Ganganiya
कैसे बताऊं,मेरे कौन हो तुम
Ram Krishan Rastogi
शराफत में इसको मुहब्बत लिखेंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
भूल
Seema Tuhaina
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग६]
Anamika Singh
दस्तक
Anamika Singh
नए नए जज़्बात दे रहा है।
Taj Mohammad
शृंगार छंद और विधाएं
Subhash Singhai
आवत हिय हरषै नहीं नैनन नहीं स्नेह।
sheelasingh19544 Sheela Singh
तीन शर्त"""'
Prabhavari Jha
पानी का दर्द
Anamika Singh
✍️एक फ़िरदौस✍️
'अशांत' शेखर
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
कुछ यादें जीवन के
Anamika Singh
غزل
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
Loading...