Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 17, 2019 · 1 min read

ज़ेब

बाबूजी जिसमें गहराई देखते,
माँ को लगती हमेशा लंबी कम,
भाई के हाथ की होड़ में ,
बहन का गुमान है बढाती ।
वह चीज ही ऐसी जिसपर ,
दुनिया ईतराती।

पत्नी खुशी खुशी उसमें सदा सेंध मारती,
पति की मेहनत को फिर भी नाप न पाती ।
बच्चों के अरमानों की बस्ती बसाती ,
वह चीज़ ही एसी जिसपर दुनिया ईतराती।

दर्जी ही जिसको सुन्दर बनाता
मज़बूत बनाने की कश्मकश में ,
किसी गरीब की मजबूरी छुपाता।
सबकी आन और शान है बनती
वह चीज़ ही ऐसी जिसपर दुनिया ईतराती।

आदमी को इंसान बनाती ।
कटी ,फटी हो तो मान गिराती।
जैसी भी हो ,सबको अपनी ही भाती
वह चीज़ ही ऐसी जिसपर दुनिया ईतराती।

जय हो जिनकी ज़ेब बड़ी हो
पर फिर भी सबकी अपनी ही हो।
ज़ेब की पूजा ,ज़ेब का कोना
हर रिशते में जैसे मिठास का होना ।
तेरी हो या मेरी हो, पर सभी की
जेब भरी हो।।।।

आरती गुप्ता ।

2 Likes · 2 Comments · 143 Views
You may also like:
✍️जिंदगी क्या है...✍️
'अशांत' शेखर
रक्षाबंधन गीत
Dr Archana Gupta
नफ़्स
निकेश कुमार ठाकुर
सरहद पर रहने वाले जवान के पत्नी का पत्र
Anamika Singh
रामकथा की अविरल धारा श्री राधे श्याम द्विवेदी रामायणी जी...
Ravi Prakash
पर्यावरण संरक्षण
Manu Vashistha
औकात।
Taj Mohammad
फोन
Kanchan Khanna
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
मन का पाखी…
Rekha Drolia
मिलना , क्यों जरूरी है ?
Rakesh Bahanwal
इरादा
Shivam Sharma
मानवता
Dr.sima
Time never returns
Buddha Prakash
मत पूछो कोई वो क्या थे
VINOD KUMAR CHAUHAN
विभाजन की पीड़ा
ओनिका सेतिया 'अनु '
बरसात में साजन और सजनी
Ram Krishan Rastogi
'समय का सदुपयोग'
Godambari Negi
** बेटी की बिदाई का दर्द **
Dr.Alpa Amin
भारत रत्न श्री नानाजी देशमुख (संस्मरण)
Ravi Prakash
दो लफ़्ज़ मोहब्बत के
Dr fauzia Naseem shad
✍️सिर्फ…✍️
'अशांत' शेखर
चाहत की हद।
Taj Mohammad
ममता
Rashmi Sanjay
सच होता है कड़वा
gurudeenverma198
एक प्रयास अपने लिए भी
Dr fauzia Naseem shad
पावन पवित्र धाम....
Dr.Alpa Amin
मुहब्बत क्या है
shabina. Naaz
या इलाही।
Taj Mohammad
अल्फाज़ ए ताज भाग-4
Taj Mohammad
Loading...