Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2022 · 1 min read

ज़िंदगी से सवाल

खेल था तदबीर और मुकद्दर का।
ज़िन्दगी से सवाल क्या करते I।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
6 Likes · 3 Comments · 132 Views
You may also like:
बरसात
मनोज कर्ण
खेलता ख़ुद आग से है
Shivkumar Bilagrami
चामर छंद "मुरलीधर छवि"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
तीर तुक्के
सूर्यकांत द्विवेदी
मेरे 20 सर्वश्रेष्ठ दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पाब्लो नेरुदा
Pakhi Jain
पसन्द
Seema 'Tu hai na'
बोली समझी जा रही
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
अवधी की आधुनिक प्रबंध धारा: हिंदी का अद्भुत संदोह
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
लिव इन रिलेशनशिप
Shekhar Chandra Mitra
मुक्तक
प्रीतम श्रावस्तवी
रक्षाबंधन गीत
Dr Archana Gupta
बूंद बूंद में जीवन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कण कण तिरंगा हो, जनगण तिरंगा हो
डी. के. निवातिया
ना चीज़ हो गया हूँ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
जब 'बुद्ध' कोई नहीं बनता।
Buddha Prakash
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
इश्क करते रहिए
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश
ओनिका सेतिया 'अनु '
तुम इतना जो मुस्कराती हो,
Dr. Nisha Mathur
आयेगी मौत तो
Dr fauzia Naseem shad
दुआओं की नौका...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
साँप का जहर जीवन भी देता है
राकेश कुमार राठौर
इंसान जीवन को अब ना जीता है।
Taj Mohammad
खुद को तुम पहचानों नारी ( भाग १)
Anamika Singh
चौपाई छंद में सौलह मात्राओं का सही गठन
Subhash Singhai
*रंगमंच पर देर न लगती (गीत)*
Ravi Prakash
हिंदी दोहे- न्याय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
✍️जर्रे में रह जाऊँगा✍️
'अशांत' शेखर
Loading...