Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#9 Trending Author
Apr 25, 2022 · 1 min read

ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।

ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।
बातों से क्या हुआ है बातें होती है कहने की।।1।।

वफा हम अपनी साबित ना कर सके।
देखो यूं सजा मिली हैं हम को चुप रहने की।।2।।

हालात ही ऐसे थे कुछ हाथ में ना था।
हिम्मत ही ना हुई तुमको जाने से रोकने की।।3।।

शफक्कत भरा हाथ क्या आया सर पे।
मां की मोहब्बत सभी पर भारी पड़ने लगी।।4।।

जब थे पास तो कुछ महसूस ना हुआ।
तुम क्या गए तुम्हारी कमी हमें खलने लगी।।5।।

आज आए हो जो मुद्दातों के बाद तुम।
दिल के सहरा में इश्क ए बारिश होने लगी।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 63 Views
You may also like:
मै जलियांवाला बाग बोल रहा हूं
Ram Krishan Rastogi
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग३]
Anamika Singh
शिव शम्भु
Anamika Singh
✍️✍️व्यवस्था✍️✍️
"अशांत" शेखर
खुशबू चमन की किसको अच्छी नहीं लगती।
Taj Mohammad
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
"पिता का जीवन"
पंकज कुमार "कर्ण"
“ माँ गंगा ”
DESH RAJ
वक्त रहते मिलता हैं अपने हक्क का....
Dr. Alpa H. Amin
युद्ध हमेशा टाला जाए
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग१]
Anamika Singh
पाखंडी मानव
ओनिका सेतिया 'अनु '
बुरी आदत
AMRESH KUMAR VERMA
The Magical Darkness
Manisha Manjari
कुछ तुम बदलो, कुछ हम बदलें।
निकेश कुमार ठाकुर
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam " मन "
✍️थोड़ा थक गया हूँ...✍️
"अशांत" शेखर
यूं तुम मुझमें जज़्ब हो गए हो।
Taj Mohammad
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
चलो जहाँ की रूसवाईयों से दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता का पता
श्री रमण
अग्नि पथ के अग्निवीर
Anamika Singh
💐💐 सूत्रधार 💐💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नेताओं के घर भी बुलडोजर चल जाए
Dr. Kishan Karigar
जिंदगी क्या है?
Ram Krishan Rastogi
अति का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
पानी का दर्द
Anamika Singh
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
रिश्ते
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
Loading...