Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

“ज़िंदगी अगर किताब होती”

“ज़िंदगी अगर किताब होती”
**********************

हमारी ज़िंदगी अगर किताब होती;
पन्ने-पन्ने पे लिखी,कई ख्वाब होती।

भूत, भविष्य व वर्तमान, तीनों की;
बातें इसमें , लिखी बेहिसाब होती।

कुछ पन्नों में , दुख-दर्द छिपा होता;
फर्ज़ दिल के कलम से, छपा होता।

निहित होते इसमें, सारे रिश्ते-नाते;
ये किताब,हर शख़्स को खूब भाते।

सुनहरे पन्नों को पलटकर , सबको;
जिंदगी जीने का हुनर , ज्ञात होता।

जीवन रंग भरा,हर दिन खास होता;
फिर निज रिश्तों का,अहसास होता।

सजे दिखते हर्फ़ से, निज अल्फ़ाज़;
पढ़ते सब फिर, ज़िंदगी के हर राज।

नई पीढ़ी को भी,आते फिर हम याद;
ग़र अपनी ज़िंदगी जो होती, किताब।
°°°°°°°°°°°°°°°°📚°°°°°°°°°°°°°°

स्वरचित सह मौलिक;
……✍️पंकज कर्ण
……….कटिहार।।

5 Likes · 2 Comments · 159 Views
You may also like:
✍️ये अज़ीब इश्क़ है✍️
"अशांत" शेखर
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
'बेटियाॅं! किस दुनिया से आती हैं'
Rashmi Sanjay
✍️जिंदगी✍️
"अशांत" शेखर
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
रस्सियाँ पानी की (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
कर भला सो हो भला
Surabhi bharati
✍️✍️हिमाक़त✍️✍️
"अशांत" शेखर
चिड़िया का घोंसला
DESH RAJ
मायका
Anamika Singh
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
तेरे संग...
Dr. Alpa H. Amin
केंचुआ
Buddha Prakash
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
Love Heart
Buddha Prakash
मां
हरीश सुवासिया
'पिता' संग बांटो बेहद प्यार....
Dr. Alpa H. Amin
""वक्त ""
Ray's Gupta
अजनबी
Dr. Alpa H. Amin
नारी को सदा राखिए संग
Ram Krishan Rastogi
खेत
Buddha Prakash
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
लड़कियों का घर
Surabhi bharati
शब्दों के एहसास गुम से जाते हैं।
Manisha Manjari
तेरा ख्याल।
Taj Mohammad
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
"हमारी मातृभाषा हिन्दी"
Prabhudayal Raniwal
खोलो मन की सारी गांठे
Saraswati Bajpai
पिता का आशीष
Prabhudayal Raniwal
✍️"अग्निपथ-३"...!✍️
"अशांत" शेखर
Loading...