Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Aug 16, 2016 · 1 min read

ज़िंदगानी बदल चुकी लाला

ज़िंदगानी बदल चुकी लाला
अब कहानी बदल चुकी लाला

अब यहाँ कोई भी नहीं राजा
रात रानी बदल चुकी लाला

मौत बरहक़’ सुना हैं साँसो ने
अब रवानी बदल चुकी लाला

आँसुओं की कतार समझा कर
आँख पानी बदल चुकी लाला

अब मुहब्बत कहाँ मुहब्बत है
अपने म’आनी बदल चुकी लाला

आदमी ‘ आदमी ‘ नहीं लगता
हर निशानी बदल चुकी लाला

– नासिर राव

2 Comments · 337 Views
You may also like:
पापा जी
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
बड़ी मुश्किल से खुद को संभाल रखे है,
Vaishnavi Gupta
✍️सूरज मुट्ठी में जखड़कर देखो✍️
'अशांत' शेखर
"मेरे पिता"
vikkychandel90 विक्की चंदेल (साहिब)
"रक्षाबंधन पर्व"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
If we could be together again...
Abhineet Mittal
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
क्या ज़रूरत थी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
इज़हार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
राखी-बंँधवाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️क्या सीखा ✍️
Vaishnavi Gupta
आपसा हम जो दिल
Dr fauzia Naseem shad
आई राखी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️जीने का सहारा ✍️
Vaishnavi Gupta
पिता
नवीन जोशी 'नवल'
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार कर्ण
मर गये ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Shailendra Aseem
अपना ख़्याल
Dr fauzia Naseem shad
सो गया है आदमी
कुमार अविनाश केसर
तू कहता क्यों नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"कल्पनाओं का बादल"
Ajit Kumar "Karn"
✍️प्यारी बिटिया ✍️
Vaishnavi Gupta
✍️इतने महान नही ✍️
Vaishnavi Gupta
ठनक रहे माथे गर्मीले / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
Loading...