Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 26, 2016 · 1 min read

जहाँ में प्यार जो कर जाते हैं……………….

जहाँ में प्यार जो कर जाते हैं
पीकर दर्द संवर जाते हैं

ख़ाली ज़रा जब होते हैं हम
तेरी याद से भर जाते हैं

दरिया-ए-मोहब्बत ठहर ज़रा
हम तेरे साथ उतर जाते हैं

मैंने सुना है गिरने वाले
होश रहते भी गिर जाते हैं

कुछ इस तरह ज़िंदा हैं हम के
साँस लेते हैं मर जाते हैं

जब भी कभी होती है बारिश
आँसू आँख में भर जाते हैं

छलक जाते हैं पैमाने वो
जो लबों को छूकर जाते हैं

यूँ निकल गये आगे से मेरे
जैसे अंजान गुज़र जाते हैं

–सुरेश सांगवान’सरु’

1 Like · 138 Views
You may also like:
हम और तुम जैसे…..
Rekha Drolia
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
तमन्नाओं का संसार
DESH RAJ
मैं भारत हूँ
Dr. Sunita Singh
प्रेम की राह पर -8
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
महामोह की महानिशा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आखिर क्यों... ऐसा होता हैं 
Dr. Alpa H. Amin
संताप
ओनिका सेतिया 'अनु '
पुस्तक
AMRESH KUMAR VERMA
रिश्ते
Saraswati Bajpai
बस तुम्हारी कमी खलती है
Krishan Singh
मैं कौन हूँ
Vikas Sharma'Shivaaya'
सच
दुष्यन्त 'बाबा'
इक दिल के दो टुकड़े
D.k Math
प्रेम
Rashmi Sanjay
न तुमने कुछ न मैने कुछ कहा है
ananya rai parashar
आमाल।
Taj Mohammad
$प्रीतम के दोहे
आर.एस. 'प्रीतम'
जंत्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
✍️झूठा सच✍️
"अशांत" शेखर
दर्द।
Taj Mohammad
आरज़ू है बस ख़ुदा
Dr. Pratibha Mahi
दिल से निकले हुए कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
बचपन
Anamika Singh
फिर से खो गया है।
Taj Mohammad
बोलती आँखे...
मनोज कर्ण
ईश प्रार्थना
Saraswati Bajpai
स्वेद का, हर कण बताता, है जगत ,आधार तुम से।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
Loading...