Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 17, 2022 · 1 min read

जल है जीवन में आधार

वारि पे वारी जाऊं बिन भूलें उपयोग,
पानी के उद्भव बहुत तरवर ते संयोग.
.
जल की महत्ता पर सुंदर किया बखान.
आओ सब मिलकर पेड़ लगाएं श्रीमान.
.
पानी पाणि वाणी किस किस ने जानी,
जानकर ही उत्थान हुआ सुन अज्ञानी.
.
मेरा मत तेरा नहीं, देख पानी की ढाल.
झुके प्यास बुझाने, देखे अनेक मिशाल.
.
तेरी भव बाधा हरे, तेरे ही निज प्रयास,
घर त्याग जंगल सजे,कैसे हो आभास.

2 Likes · 2 Comments · 75 Views
You may also like:
बिछड़न [भाग २]
Anamika Singh
बदलती दुनिया
AMRESH KUMAR VERMA
दुआ
Alok Saxena
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
माँ तुम अनोखी हो
Anamika Singh
सर रख कर रोए।
Taj Mohammad
चेहरा तुम्हारा।
Taj Mohammad
फारसी के विद्वान श्री नावेद कैसर साहब से मुलाकात
Ravi Prakash
पिता और एफडी
सूर्यकांत द्विवेदी
घुसमट
"अशांत" शेखर
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
"महेनत की रोटी"
Dr. Alpa H. Amin
आखिर क्यों... ऐसा होता हैं 
Dr. Alpa H. Amin
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खोकर के अपनो का विश्वास ।....(भाग - 3)
Buddha Prakash
फास्ट फूड
Utsav Kumar Vats
पुस्तकों की पीड़ा
Rakesh Pathak Kathara
गीत -
Mahendra Narayan
saliqe se hawaon mein jo khushbu ghol sakte hain
Muhammad Asif Ali
मिलन की तड़प
Dr. Alpa H. Amin
हौसला
Mahendra Rai
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
अराजकता बंद करो ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
अक्षय तृतीया की हार्दिक शुभकामनाएं
sheelasingh19544 Sheela Singh
वृक्ष बोल उठे..!
Prabhudayal Raniwal
सुंदर बाग़
DESH RAJ
"ईद"
Lohit Tamta
कभी कभी।
Taj Mohammad
आजादी
AMRESH KUMAR VERMA
पुस्तक
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...