Oct 18, 2016 · 1 min read

जयबालाजी:: खेत जोतनेवाले कृषकों ! :: जितेंद्रकमलआनंद ( ४०)

ताटंक छंद ::
खेत जोतने वाले कृषकों , करो खेत के मत टुकडे ।
लोभी सब बन जायेंगे जब,अर्थहीन होंगे मुखड़े ।
कैसे खेत जुतेगा तेरा, भर पायेगा कब आला ।
भूख पेट की शांत न होगी ,सोचो क्या करना, बाला !!

—— जितेन्द्र कमल आनंद

1 Comment · 80 Views
You may also like:
💐💐धड़कता दिल कहे सब कुछ तुम्हारी याद आती है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*स्वर्गीय श्री जय किशन चौरसिया : न थके न हारे*
Ravi Prakash
वो
Shyam Sundar Subramanian
** यकीन **
Dr. Alpa H.
भोर
पंकज कुमार "कर्ण"
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
कहां जीवन है ?
Saraswati Bajpai
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
बेटी का संदेश
Anamika Singh
सीख
Pakhi Jain
प्रणाम : पल्लवी राय जी तथा सीन शीन आलम साहब
Ravi Prakash
क्या अटल था?
Saraswati Bajpai
रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी
Buddha Prakash
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
'हाथी ' बच्चों का साथी
Buddha Prakash
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
Ravi Prakash
The Magical Darkness
Manisha Manjari
क्या लिखूं मैं मां के बारे में
Krishan Singh
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग१]
Anamika Singh
🌺🌺प्रेम की राह पर-47🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
महका हम करेंगें।
Taj Mohammad
अभी बाकी है
Lamhe zindagi ke by Pooja bharadawaj
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सुंदर सृष्टि है पिता।
Taj Mohammad
मां-बाप
Taj Mohammad
Loading...