Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Jan 2022 · 1 min read

जब राजा ही नंगा!

ये जातियों का लफड़ा
वो मजहबों का दंगा!
आख़िर मैं कैसे कह दूं
सब कुछ यहां चंगा!!
सारे फनकार रह गए
दरबारी गायक बनकर!
भला कपड़े कौन पहने
जब राजा ही नंगा!!
Shekhar Chandra Mitra

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 234 Views
You may also like:
■ समयोचित सलाह
■ समयोचित सलाह
*Author प्रणय प्रभात*
बड़े दिनों के बाद मिले हो
बड़े दिनों के बाद मिले हो
Surinder blackpen
✍️✍️ये बौनी!आँखों से गोली मार रही है✍️✍️
✍️✍️ये बौनी!आँखों से गोली मार रही है✍️✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमेशा तेरी याद में
हमेशा तेरी याद में
Dr fauzia Naseem shad
*हमेशा खून के रिश्ते की, आहट याद आएगी (हिंदी गजल/गीतिका)*
*हमेशा खून के रिश्ते की, आहट याद आएगी (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
भ्रम
भ्रम
Shyam Sundar Subramanian
मैं जिंदगी हूं।
मैं जिंदगी हूं।
Taj Mohammad
# कभी कांटा , कभी गुलाब ......
# कभी कांटा , कभी गुलाब ......
Chinta netam " मन "
भगतसिंह की जेल डायरी
भगतसिंह की जेल डायरी
Shekhar Chandra Mitra
होगा बढ़िया व्यापार
होगा बढ़िया व्यापार
Buddha Prakash
तितलियाँ
तितलियाँ
RAJA KUMAR 'CHOURASIA'
विवेकानंद जी के जन्मदिन पर
विवेकानंद जी के जन्मदिन पर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुछ सवाल
कुछ सवाल
manu sweta sweta
मुस्कुराना चाहता हूं।
मुस्कुराना चाहता हूं।
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि’
होली
होली
Dr Archana Gupta
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
करीब आने नहीं देता
करीब आने नहीं देता
कवि दीपक बवेजा
रंग
रंग
Dr Rajiv
अ से अगर मुन्ने
अ से अगर मुन्ने
gurudeenverma198
महिला दिवस पर एक व्यंग
महिला दिवस पर एक व्यंग
Prabhu Nath Chaturvedi
जियो उनके लिए/JEEYO unke liye
जियो उनके लिए/JEEYO unke liye
Shivraj Anand
ज़िन्दगी का रंग उतरे
ज़िन्दगी का रंग उतरे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Writing Challenge- घर (Home)
Writing Challenge- घर (Home)
Sahityapedia
मैं तुमसे प्रेम करती हूँ
मैं तुमसे प्रेम करती हूँ
Kavita Chouhan
ऐसे काम काय करत हो
ऐसे काम काय करत हो
मानक लाल"मनु"
नारी और वर्तमान
नारी और वर्तमान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जंगल की सैर
जंगल की सैर
जगदीश लववंशी
बिहार छात्र
बिहार छात्र
Utkarsh Dubey “Kokil”
✍️पत्थर का बनाना पड़ता है ✍️
✍️पत्थर का बनाना पड़ता है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
Wakt ko thahra kar kisi mod par ,
Wakt ko thahra kar kisi mod par ,
Sakshi Tripathi
Loading...