Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author

✍️जंग टल जाये तो बेहतर है✍️

✍️जंग टल जाये तो बेहतर है✍️
—-–——————————–//
कल मैं अकेला चला था,
आज उस राह कारवाँ चला है ।
अंजाम मंजुर है चाहे कुछ भी हो,
वो होकर बेपरवाह चला है ।।

एक शोला ही तो काफ़ी है,
अंदर तप रहा वो जलजला है ।
रगों में जमसा गया था वो खून,
आज बनकर आबरवाँ चला है ।।

मंझिल मिल हि जायेगी
गर तुमने पाने की ठानी है ।
वो देख पहाड़ो से टकराने
रास्तो पे इंसान का जज़्बा चला है ।।

नये परिंदों को आसमान
छूने की तालीम देनी पड़ेगी ।
सरज़मी पे दुष्मन बाज़ खड़ा है,
उसका हमला कही मर्तबा चला है ।।

जंग टल जाये तो बेहतर है,
यही वक़्त का तक़ाज़ा है ।
अमन,भाईचारा जो कायम करे
उसे ख़ुद हासिल रुतबा चला है।।
—————————————-//
✍️”अशांत”शेखर✍️
04/06/2022

2 Comments · 151 Views
You may also like:
जिंदगी: एक संघर्ष
Aditya Prakash
✍️यही तो आखिर सच है...!✍️
'अशांत' शेखर
वैश्या का दर्द भरा दास्तान
Anamika Singh
शायरी संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
मां।
Taj Mohammad
✍️ये भी इश्क़ है✍️
'अशांत' शेखर
उसकी सांसों में जान
Dr fauzia Naseem shad
ए- अनूठा- हयात ईश्वरी देन
AMRESH KUMAR VERMA
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
उनकी आमद हुई।
Taj Mohammad
लाल में तुम ग़ुलाब लगती हो
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
" नाखून "
Dr Meenu Poonia
बुजुर्गों की उपेक्षा आखिर क्यों ?
Dr fauzia Naseem shad
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
पिता
Santoshi devi
अब जो बिछड़े तो
Dr fauzia Naseem shad
क्यों भावनाएं भड़काते हो?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हवा के झोंको में जुल्फें बिखर जाती हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता, पिता बने आकाश
indu parashar
* तु मेरी शायरी *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अगर तुम सावन हो
bhandari lokesh
दुनिया की फ़ितरत
Anamika Singh
कोई हमारा ना हुआ।
Taj Mohammad
हृदय का सरोवर
सुनील कुमार
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
'अशांत' शेखर
हाइकु:(लता की यादें!)
Prabhudayal Raniwal
नारी को सदा राखिए संग
Ram Krishan Rastogi
✍️फासले थे✍️
'अशांत' शेखर
बेपर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
का हो पलटू अब आराम बा!!
Suraj Kushwaha
Loading...