Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 26, 2022 · 1 min read

जंगल में एक बंदर आया

जंगल में एक बंदर आया
पेड़ों को उसने खूब हिलाया
बहुत शरारत करता बंदर
नहीं किसी से डरता बंदर
हाथी शेर भालू से यारी
रहती साथ बंदरिया प्यारी
बस्ती बस्ती फिरता बंदर
नकल सभी की करता बंदर
कहे मदारी तो नाच दिखाता
छेड़ो तो फिर दांत दिखाता
जंगल में एक बंदर आया

1 Like · 78 Views
You may also like:
तुमसे इश्क कर रहे हैं।
Taj Mohammad
बुंदेली दोहा- गुदना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मौत ने कुछ बिगाड़ा नहीं
अरशद रसूल /Arshad Rasool
आ लौट के आजा घनश्याम
Ram Krishan Rastogi
ईश्वर का खेल
Anamika Singh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है। [भाग ७]
Anamika Singh
“ माँ गंगा ”
DESH RAJ
रिश्तों की अहमियत को न करें नज़र अंदाज़
Dr fauzia Naseem shad
देखो! पप्पू पास हो गया
संजीव शुक्ल 'सचिन'
अप्सरा
Nafa writer
दिल की आवाज़
Dr fauzia Naseem shad
महामोह की महानिशा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
पिता का आशीष
Prabhudayal Raniwal
प्यार
Satish Arya 6800
हे कृष्णा पृथ्वी पर फिर से आओ ना।
Taj Mohammad
साधु न भूखा जाय
श्री रमण
जाने कैसी कैद
Saraswati Bajpai
शांति....
Dr. Alpa H. Amin
मेरे कच्चे मकान की खपरैल
Umesh Kumar Sharma
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
तुम जो मिल गई हो।
Taj Mohammad
मजदूर की जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
रुक जा रे पवन रुक जा ।
Buddha Prakash
इश्क में तन्हाईयां बहुत है।
Taj Mohammad
'पिता' संग बांटो बेहद प्यार....
Dr. Alpa H. Amin
पिता
Satpallm1978 Chauhan
*तिरछी नजर *
Dr. Alpa H. Amin
आख़िरी मुलाक़ात ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
पिता का कंधा याद आता है।
Taj Mohammad
Loading...