Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Dec 2022 · 2 min read

💐💐छोरी में एटीट्यूड बहुत है💐💐

##मणिकर्णिका##
##मूर्खो लड़की पर कहीं तेजाब डाला जाता है##
##लिखाबट रूपी तेजाब का उपयोग करो##
##लिख लिख के गला दो##
##तुम्हारे हिस्से में भय रहेगा##
##बौनी बौनी बौनी##
##चेलेंज न दो##
##तुम ऐसे ही गीत के हकदार हो,अलंकृत के नहीं##
##ईश्वर को समर्पित##
##फोटो डालते रहो और ऐसे ही गीत लेती रहो##

👇👇इस गीत में रूपा को छोड़कर 😂किसी की भी भावना को ठेस पहुँचे वह क्षमा करे।परन्तु यह न पूछना की यह रूपा कौन है।बस है यह समझो।
किसी की भावना को ठेस नहीं पहुँचाई गई है।किसी की बहिन,माता और पत्नी का नाम भावना हो,उसको भी नहीं😂😄😉😉

छोरी में एटीट्यूड बहुत है,
छोरी में एटीट्यूड बहुत है,
लाल रंग पर लाल लिपस्टिक,
क्यों करती है ऐसी मिस्टेक?
लड़की ब्यूटीफुल तो भी न होते चुल,
पाल रखा है गाँव में तेरे ताऊ ने काला बुल,
अब क्या है डिग्री को लेकर?
विलेज में लगेगा ठेला,
भर जाएगा भइया मेरे,
रूप किशोर का थैला,
छोरी सॉलिट्यूड बहुत है
छोरी में एटीट्यूड बहुत है।।1।।
सात समुन्दर पार वो जाकर बन जाएगी ज्ञानी,
लन्दन में जाकर गाएगी, क्या क्या क्या?
शीला,शीला की जवानी,
तू मेरा राजा,मैं तेरी रानी,
आण्टी पुलिस बुला लेगी,
तो टूट जाएगा मेरा तो हैंडल,
फिर चिल्लाएगी ट्रस्ट नहीं था,
वाटर है पर थ्रस्ट नहीं था,
लंच दिया ब्रेकफास्ट नहीं था,
छोरी की बातों में लॉन्गीट्यूड बहुत है,
छोरी में एटीट्यूड बहुत है।।2।।
बाल हैं ऐसे काले काले,
बात नहीं मुँह में हैं छाले,
मेरे दिल में हीस्ट पड़ गया,
बेकार गए सब लिंक के ताले,
बातों में कितना ऑयल है,
ब्रेन में काली सॉइल है,
अब वह खरीदेगी ट्रैक्टर,
अगले साल उसका लड़का होगा,
नाम रखेगी क्या क्या क्या?हेक्टर,
छोरी में एप्टीट्यूड बहुत है,
छोरी में एटीट्यूड बहुत है।।3।।
नॉवेल पढ़ना काम है मेरा रोज का,
मैं बस मिल्क पीयूंगी, न पीयूंगी बोडका,
एक पैर विलेज में रहता,एक रहता दिल्ली,
क्यों पालूँगी डॉगी, मैं पालूँगी बिल्ली,
नाच नाच के गाँव हिला दूँ,
सूखे वाटर में नाव चला दूँ,
बनारस का पान खिला दूँ,
सुबह से शाम हो गई,
ठण्डा पीओ तब तक चाय मँगा दूँ,
छोरी की एल्टीट्यूड बहुत है,
छोरी में एटीट्यूड बहुत है।।4।।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
Tag: Rap
1 Like · 1 Comment · 78 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
श्याम अपना मान तुझे,
श्याम अपना मान तुझे,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
पत्नी
पत्नी
Acharya Rama Nand Mandal
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
पंखों को मेरे उड़ान दे दो
पंखों को मेरे उड़ान दे दो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हमको तो आज भी
हमको तो आज भी
Dr fauzia Naseem shad
सफर
सफर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
आश किरण
आश किरण
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
नफरते का दौर . .में
नफरते का दौर . .में
shabina. Naaz
आ गई रंग रंगीली, पंचमी आ गई रंग रंगीली
आ गई रंग रंगीली, पंचमी आ गई रंग रंगीली
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
■ विश्व-स्तरीय कुंडली
■ विश्व-स्तरीय कुंडली
*Author प्रणय प्रभात*
हमारी मोहब्बत का अंजाम कुछ ऐसा हुआ
हमारी मोहब्बत का अंजाम कुछ ऐसा हुआ
Vishal babu (vishu)
खंडहर में अब खोज रहे ।
खंडहर में अब खोज रहे ।
Buddha Prakash
💐प्रेम कौतुक-546💐
💐प्रेम कौतुक-546💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
بدل گیا انسان
بدل گیا انسان
Ahtesham Ahmad
युद्ध नहीं जिनके जीवन में,
युद्ध नहीं जिनके जीवन में,
Sandeep Mishra
तुम्हारी हँसी......!
तुम्हारी हँसी......!
Awadhesh Kumar Singh
आप इसे पढ़ें या न पढ़ें हम तो बस लिखते रहेंगे ! आप सुने ना सुन
आप इसे पढ़ें या न पढ़ें हम तो बस लिखते रहेंगे ! आप सुने ना सुन
DrLakshman Jha Parimal
#राम-राम जी..👏👏
#राम-राम जी..👏👏
आर.एस. 'प्रीतम'
मैं भारत हूं
मैं भारत हूं
Ms.Ankit Halke jha
मेरा जीवन बसर नहीं होता।
मेरा जीवन बसर नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
*अभी तो घोंसले में है, विहग के पंख खुलने दो (मुक्तक)*
*अभी तो घोंसले में है, विहग के पंख खुलने दो (मुक्तक)*
Ravi Prakash
हमें दिल की हर इक धड़कन पे हिन्दुस्तान लिखना है
हमें दिल की हर इक धड़कन पे हिन्दुस्तान लिखना है
Irshad Aatif
"ऐ जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
ट्रेन दुर्घटना
ट्रेन दुर्घटना
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
चरचा गरम बा
चरचा गरम बा
Shekhar Chandra Mitra
अब तो आओ न
अब तो आओ न
Arti Bhadauria
तुमसे कितना प्यार है
तुमसे कितना प्यार है
gurudeenverma198
Sadiyo purani aas thi tujhe pane ki ,
Sadiyo purani aas thi tujhe pane ki ,
Sakshi Tripathi
कल्पनाओं की कलम उठे तो, कहानियां स्वयं को रचवातीं हैं।
कल्पनाओं की कलम उठे तो, कहानियां स्वयं को रचवातीं हैं।
Manisha Manjari
आज मैं एक नया गीत लिखता हूँ।
आज मैं एक नया गीत लिखता हूँ।
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
Loading...