Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#16 Trending Author
May 5, 2022 · 1 min read

छुट्टी वाले दिन…♡

बेसब्री से था इंतज़ार जिसका
लो आ गये… वो..छुट्टी वाले दिन
न कोई टेंशन सिर्फ मौज मस्ती ..!
न कोई परेशानी…
बस करो अपनी मर्जी की..!!

मन से फ्री….
पर…हां तन से कहाँ…?
उसको तो ….
निभाने हैं अपने कई फर्ज…!

है कई ऐसे काम
जो रह जाते थे अधूरे..!..!
करना है अब उसे पुरे…
न छुटे ओर न हो कोई गलती..
रखनी है सावधानी..!!

काम की वजह से
हो जाती थी दिक्कत कर्ई…
दूसरे काम में रह जाती….
अपनों की खाइशे अधूरी..!

चलो… अब मौका भी मिला हैं
छुट्टीओ का ले लेते हैं मजा,
कर लेते सभी काम…. ताकि
फिर… न रहे कोई मांग अधूरी..!!

साथ बैठकर समय व्यतीत करे
बटोरे अपनो स॔ग हज़ारों खुशियाँ
न हो कोई शिकायत….और…
न कोई रुठे…सब कुछ ठीक हो
और.. ऐसे ही सभी की छुट्टियां बीते…!!!!

1 Like · 2 Comments · 140 Views
You may also like:
Apology
Mahesh Ojha
बख्स मुझको रहमत वो अंदाज़ मिल जाए
VINOD KUMAR CHAUHAN
उपहार (फ़ादर्स डे पर विशेष)
drpranavds
"Happy National Brother's Day"
Lohit Tamta
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
कविता 100 संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
बचपन की यादें।
Anamika Singh
तू हैं शब्दों का खिलाड़ी....
Dr. Alpa H. Amin
पुस्तक
AMRESH KUMAR VERMA
छद्म राष्ट्रवाद की पहचान
Mahender Singh Hans
समय
AMRESH KUMAR VERMA
लोकसभा की दर्शक-दीर्घा में एक दिन: 8 जुलाई 1977
Ravi Prakash
🌺🍀सुखं इच्छाकर्तारं कदापि शान्ति: न मिलति🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वो आवाज
Mahendra Rai
चेहरा तुम्हारा।
Taj Mohammad
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
स्याह रात ने पंख फैलाए, घनघोर अँधेरा काफी है।
Manisha Manjari
मुक्तक
Ranjeet Kumar
प्यार का अलख
DESH RAJ
प्रयास
Dr.sima
परख लो रास्ते को तुम.....
अश्क चिरैयाकोटी
✍️अजनबी की तरह...!✍️
"अशांत" शेखर
✍️✍️हादसा✍️✍️
"अशांत" शेखर
दिल का करार।
Taj Mohammad
इन्द्रवज्रा छंद (शिवेंद्रवज्रा स्तुति)
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
नींबू की चाह
Ram Krishan Rastogi
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
रोज हम इम्तिहां दे सकेंगे नहीं
Dr Archana Gupta
जाने कहां वो दिन गए फसलें बहार के
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
भूले बिसरे गीत
RAFI ARUN GAUTAM
Loading...