Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Apr 2022 · 1 min read

छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने

छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने,
फिर बार बार क्यों तुम आते हो।
दरवाजे सारे बंद हो चुके है अब,
फिर बार बार क्यों खटकाते हो।।

होता है प्रेम जिंदगी में एक बार,
ये बार बार जिंदगी में न होता है।
प्रेम कोई गुड्डे गुड़ियों का खेल नही,
ये जिंदगी में मुश्किल से होता है।।

मांग भर दी जब तुमने एक बार,
ये बार बार न कभी भरी जाती है।
दुल्हन बनती है औरत एक बार,
ये बार बार जिंदगी में न बनती है।।

दिल के शोले तुम भड़का चुके हो,
फिर बार बार तुम क्यो भड़काते हो,
दिल ले लिया जब तुमने एक बार मेरा,
फिर बार बार क्यों तुम लौटाते हो

दिल की ख्वाइसे राख हो चुकी है,
फिर बार बार इन्हे क्यों सुलगाते हो,
जो धड़काने वाला दिल था कभी मेरा
उसे ही धड़काना तुम भूल जाते हो।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
Tag: कविता
7 Likes · 11 Comments · 594 Views
You may also like:
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
दोस्त
लक्ष्मी सिंह
🌻🌻अन्यानां जनानां हितं🌻🌻
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जय श्री महाकाल सबको, उज्जैयिनी में आमंत्रण है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दिल यही चाहता है ए मेरे मौला
SHAMA PARVEEN
Writing Challenge- रेलगाड़ी (Train)
Sahityapedia
मैं बड़ा या..?
सूर्यकांत द्विवेदी
मुझे तो सदगुरु मिल गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
बिहार एवं बिहारी (मेलोडी)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
शब्द नही है पिता जी की व्याख्या करने को।
Taj Mohammad
बचपन
Anamika Singh
रावण राज
Shekhar Chandra Mitra
आस्तीक भाग -सात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रावण कौन!
Deepak Kohli
जिंदगी के उस मोड़ पर
shabina. Naaz
विचार
मनोज शर्मा
कविता की महत्ता
Rj Anand Prajapati
✍️आहट
'अशांत' शेखर
समय
Saraswati Bajpai
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
गुदडी के लाल, लालबहादुर शास्त्री
Ram Krishan Rastogi
मांगू तुमसे पूजा में, यही छठ मैया
gurudeenverma198
खामोश रातों की
Dr fauzia Naseem shad
वर्तमान से वक्त बचा लो [भाग6]
AJAY AMITABH SUMAN
कहो अब और क्या चाहें
VINOD KUMAR CHAUHAN
बंधन
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
*धनिक का कोई निर्धन आज रिश्तेदार शायद है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
#मेरी दोस्त खास है
Seema 'Tu hai na'
इंतजार करो में आऊंगा (इंतजार करो गहलोत जरूर आएगा,)
bharat gehlot
माँ की भोर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...