Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 12, 2021 · 1 min read

छाजन

छाजन टपकता था
बारिशों में
रात भर
टप टप टप
उनींदी आंखों में
नींद की कड़वाहट लिए
कभी भरी बाल्टियाँ उलिंचती
और कभी
सोए बच्चों को थपकतीं
बारिशें….
किसानों की दोस्त भी हैं
और दुश्मन भी

3 Likes · 3 Comments · 210 Views
You may also like:
इंसान
Annu Gurjar
गज़लें
AJAY PRASAD
डॉक्टर (मुक्तक)
Ravi Prakash
*बुढ़ापे में दूसरी शादी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
इश्क ए बंदगी में।
Taj Mohammad
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
किसी का जला मकान है।
Taj Mohammad
अनामिका के विचार
Anamika Singh
मौलिक विचार
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
Listen carefully.
Taj Mohammad
हमारी प्यारी मां
Shriyansh Gupta
कविता : व्रीड़ा
Sushila Joshi
चेहरे पर चेहरे लगा लो।
Taj Mohammad
✍️स्त्री : दोन बाजु✍️
"अशांत" शेखर
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
【8】 *"* आई देखो आई रेल *"*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बहुत बुरा लगेगा दोस्त
gurudeenverma198
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
" सच का दिया "
DESH RAJ
*माँ छिन्नमस्तिका 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
कठपुतली न बनना हमें
AMRESH KUMAR VERMA
दो पल का जिंदगानी...
AMRESH KUMAR VERMA
ये जमीं आसमां।
Taj Mohammad
ज़िंदगी से बड़ा कोई भी
Dr fauzia Naseem shad
(((मन नहीं लगता)))
दिनेश एल० "जैहिंद"
खेत
Buddha Prakash
कैसा मोजिजा है।
Taj Mohammad
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
अनामिका के विचार
Anamika Singh
Loading...