Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Jan 2024 · 1 min read

छलावा

मिलें सबसे ही मतलब से छलवा कर रहें हैं सब
मुहब्बत है बहुत तुमसे दिखावा कर रहें हैं सब
दिखावे में ही जीते हैं दिखावे में ही मरते हैं
कोई परवाह ना इसके अलावा कर रहें हैं सब

©सुस्मिता सिंह ‘काव्यमय’

Tag: Poem
1 Like · 70 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
** मन में यादों की बारात है **
** मन में यादों की बारात है **
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
' नये कदम विश्वास के '
' नये कदम विश्वास के '
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
छोटी सी प्रेम कहानी
छोटी सी प्रेम कहानी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
💐प्रेम कौतुक-157💐
💐प्रेम कौतुक-157💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बाल शिक्षा कविता पाठ / POET : वीरचन्द्र दास बहलोलपुरी
बाल शिक्षा कविता पाठ / POET : वीरचन्द्र दास बहलोलपुरी
Dr MusafiR BaithA
"राजनीति"
Dr. Kishan tandon kranti
ఇదే నా భారత దేశం.
ఇదే నా భారత దేశం.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
World Hypertension Day
World Hypertension Day
Tushar Jagawat
राम काव्य मन्दिर बना,
राम काव्य मन्दिर बना,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
■ कृष्ण_पक्ष
■ कृष्ण_पक्ष
*Author प्रणय प्रभात*
हिंदी दोहा शब्द - भेद
हिंदी दोहा शब्द - भेद
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*प्यार का मतलब नहीं बस प्यार है(हिंदी गजल/ गीतिका)*
*प्यार का मतलब नहीं बस प्यार है(हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
बरस रहे है हम ख्वाबो की बरसात मे
बरस रहे है हम ख्वाबो की बरसात मे
देवराज यादव
आजकल के परिवारिक माहौल
आजकल के परिवारिक माहौल
पूर्वार्थ
तीन मुट्ठी तन्दुल
तीन मुट्ठी तन्दुल
कार्तिक नितिन शर्मा
हर पल ये जिंदगी भी कोई ख़ास नहीं होती।
हर पल ये जिंदगी भी कोई ख़ास नहीं होती।
Phool gufran
परोपकार
परोपकार
ओंकार मिश्र
सपना देखना अच्छी बात है।
सपना देखना अच्छी बात है।
Paras Nath Jha
मोहब्बत कर देती है इंसान को खुदा।
मोहब्बत कर देती है इंसान को खुदा।
Surinder blackpen
"कुण्डलिया"
surenderpal vaidya
23/130.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/130.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
Jay Dewangan
बहुत अहमियत होती है लोगों की
बहुत अहमियत होती है लोगों की
शिव प्रताप लोधी
मौला के घर देर है पर,
मौला के घर देर है पर,
Satish Srijan
जीवन का अंत है, पर संभावनाएं अनंत हैं
जीवन का अंत है, पर संभावनाएं अनंत हैं
Pankaj Sen
ବାତ୍ୟା ସ୍ଥିତି
ବାତ୍ୟା ସ୍ଥିତି
Otteri Selvakumar
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
Monika Verma
वो कॉलेज की खूबसूरत पलों के गुलदस्ते
वो कॉलेज की खूबसूरत पलों के गुलदस्ते
Ravi Shukla
बन जाने दो बच्चा मुझको फिर से
बन जाने दो बच्चा मुझको फिर से
gurudeenverma198
कान्हा तेरी नगरी
कान्हा तेरी नगरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...