Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 26, 2022 · 1 min read

चुनौती

यह जिंदगी चुनौतियों से भरी
आज ये प्रचारणा तो कल वो
एक – दो न ही सौ – हजार
जब तक हम, तब तक धौंस
मृत्यु के बाद खत्म आह्वान ।

निष्कर्ष करेंगे हम प्रवाद का
करके जनश्रुति स्वीकार हम
इसका हम निकालेगे निष्कर्ष
खुश होंगे फिर आएगी प्रवाद
मृत्यु के बाद खत्म आह्वान ।

चाहे कोई भी आ जाए जग में
उत्तम -अधम कैसा भी हो नर
बिन किंवदंती के जी न सकता
निष्कर्ष निकाल के रहेंगे हर्ष से
मृत्यु के पश्चात अव्यक्त आह्वान ।

इस भोली – भाली सी हयात में
चुनौतियां तो आते- जाते रहते
इस अनोखी सी जग, संसार में
उत्तेजना मुकम्मल न होती यहां
काशीवास के बाद खत्म चुनौती ‌।

2 Likes · 3 Comments · 189 Views
You may also like:
दो लफ़्ज़ मोहब्बत के
Dr fauzia Naseem shad
दोषस्य ज्ञानं निर्दोषं एव भवति
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अगनित उरग..
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
✍️निज़ाम✍️
'अशांत' शेखर
मंज़िल मौत है तो जिंदगी एक सफ़र है
Krishan Singh
पंछी हमारा मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
नैन अपने
Dr fauzia Naseem shad
खामोशी
Anamika Singh
बाबा ब्याह ना देना,,,
Taj Mohammad
जेब में सरकार लिए फिरते हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
लिख लेते हैं थोड़ा थोड़ा
सूर्यकांत द्विवेदी
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
✍️कोई बैर नहीं है✍️
'अशांत' शेखर
खुद को बहला रहे हैं।
Taj Mohammad
✍️🌺प्रेम की राह पर-46🌺✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
'अशांत' शेखर
*संस्मरण*
Ravi Prakash
दीया तले अंधेरा
Vikas Sharma'Shivaaya'
【12】 **" तितली की उड़ान "**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कारे कारे बदरा जाओ साजन के पास
Ram Krishan Rastogi
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तुम्हारी जुदाई ने।
Taj Mohammad
गुमनामी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️मैंने पूछा कलम से✍️
'अशांत' शेखर
हम आ जायेंगें।
Taj Mohammad
क्यों मार दिया,सिद्दू मूसावाले को
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बड़ी शिकायत रहती है।
Taj Mohammad
एक मुद्दत से।
Taj Mohammad
*** वीरता
Prabhavari Jha
Loading...