Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author
Jul 5, 2016 · 1 min read

चाह कर भी भुला न पाये हम

चाह कर भी भुला न पाये हम
याद दिल में रहे बसाये हम

था न आसान अलविदा कहना
भीगी पलकों से मुस्कुराये हम

देख कर मोड़ मुँह लिया हमसे
आज इतने हुए पराये हम

ज़िन्दगी में ख़ुशी से रहने को
गम के भरते रहे किराये हम

पास अपने भी गम नहीं कम थे
और तेरा ख़रीद लाये हम

‘अर्चना’ दर्द कह नहीं सकते
प्यार के क्योंकि है सताये हम

10 Comments · 266 Views
You may also like:
जल जीवन - जल प्रलय
Rj Anand Prajapati
एक पल,विविध आयाम..!
मनोज कर्ण
✍️"अग्निपथ-३"...!✍️
"अशांत" शेखर
नहीं, अब ऐसा नहीं होगा
gurudeenverma198
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
रास्ता
Anamika Singh
बेजुवान मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
अश्रुपात्र A glass of years भाग 6 और 7
Dr. Meenakshi Sharma
आया सावन - पावन सुहवान
Rj Anand Prajapati
【12】 **" तितली की उड़ान "**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️हिटलर अभी जिंदा है...✍️
"अशांत" शेखर
बस तुम को चाहते हैं।
Taj Mohammad
ये जमीं आसमां।
Taj Mohammad
जिंदगी का मशवरा
Krishan Singh
✍️झूठा सच✍️
"अशांत" शेखर
💐प्रेम की राह पर-24💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
**मानव ईश्वर की अनुपम कृति है....
Prabhavari Jha
तुम चली गई
Dr.Priya Soni Khare
काश अपना भी कोई चाहने वाला होता।
Taj Mohammad
पुराने खत
sangeeta beniwal
वक्त और दिन
DESH RAJ
बाबा की धूल
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
मां
हरीश सुवासिया
✍️वो कहना ही भूल गया✍️
"अशांत" शेखर
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
*बुरे फँसे कवयित्री पत्नी पाकर (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
सच में ईश्वर लगते पिता हमारें।।
Taj Mohammad
भगवान सुनता क्यों नहीं ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
If We Are Out Of Any Connecting Language.
Manisha Manjari
Loading...