#2 Trending Author

चार मुक्तक

चार मुक्तक
★★★★★★★★★★★★★★★★★★★★★★
1-
मत पूछो मैँ कैसा हूँ
चुभ जाऊँगा ऐसा हूँ
फूलोँ सी हो छूना मत
मैँ तो काँटोँ जैसा हूँ
2-
राम कहते जिसे हैँ वही तो खुदा
आदमी है नहीँ आदमी से जुदा
एक है आसमाँ है धरा एक ही
क्योँ पूजालय बनेँ अलहदा अलहदा
3-
नहीं तेरे मैं सपनों में लगाने आग जाता हूँ
तुम्हारा जिक्र आते ही मगर मैं जाग जाता हूँ
कहीं फिर प्यार का इजहार तुम करने चली आओ
तेरे कदमों की आहट से मैं डर कर भाग जाता हूँ
4-
तुम हो मेरे साथ मगर ये रात नहीँ अच्छी लगती
लिट्टी-चोखा बिन तो ये बरसात नहीँ अच्छी लगती
प्यार करूँगा शर्त यही है आलू लेकर आ जाओ
भूखा हूँ अब दिल की कोई बात नहीँ अच्छी लगती

– आकाश महेशपुरी

173 Views
You may also like:
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
हाल ए इश्क।
Taj Mohammad
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
ऐसी सोच क्यों ?
Deepak Kohli
मूक हुई स्वर कोकिला
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हस्यव्यंग (बुरी नज़र)
N.ksahu0007@writer
💐💐प्रेम की राह पर-12💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आज की पत्रकारिता
Anamika Singh
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
प्यार
Swami Ganganiya
नदी सदृश जीवन
Manisha Manjari
भाग्य लिपि
ओनिका सेतिया 'अनु '
बेवफाओं के शहर में कुछ वफ़ा कर जाऊं
Ram Krishan Rastogi
नाशवंत आणि अविनाशी
Shyam Sundar Subramanian
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
स्वप्न-साकार
Prabhudayal Raniwal
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
ठोकर तमाम खा के....
अश्क चिरैयाकोटी
आइसक्रीम लुभाए
Buddha Prakash
मेरे पापा।
Taj Mohammad
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
फेसबुक की दुनिया
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कल जब हम तुमसे मिलेंगे
Saraswati Bajpai
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H.
दिल तड़फ रहा हैं तुमसे बात करने को
Krishan Singh
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
क्या यही शिक्षामित्रों की है वो ख़ता
आकाश महेशपुरी
हे ईश्वर!
Anamika Singh
Loading...