Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#17 Trending Author

चंपा

******** चंपा (रोला- छंद) *********
********************************
श्वेत – गुलाबी-लाल , चंपा खुश्बू बिखेरे।
सुमन से झुके डाल , दोपहर -शाम-सवेरे।।

मन हो शांत – शील,महके चंपा – चमेली।
रंग-रूप-वास गुण, मुग्ध हो सखी सहेली।।

छिपा हुआ है अवगुण,बात बहुत हैं निराली।
भंवर न आस पास , नही कोई रखवाली।।

खिले बिन है पराग,भरा हुआ है खजाना।
कामदेव का फूल, जो सूंघे हो मस्ताना।।

चरणों की है धूल, अंबिका माँ का गहना।
चंपा से मन भरे, मनसीरत मान कहना।।
**********************************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

1 Like · 263 Views
You may also like:
#धरती-सावन
आर.एस. 'प्रीतम'
कहानी *"ममता"* पार्ट-4 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
हर किसी में अदबो-लिहाज़ ना होता है।
Taj Mohammad
#मजबूरी
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
चंदा मामा
Dr. Kishan Karigar
खत किस लिए रखे हो जला क्यों नहीं देते ।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
दिनेश कार्तिक
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती हैं
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कहानी *”ममता”* पार्ट-1 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
कि राज दिल का उसको, कभी बता नहीं सके
gurudeenverma198
हम हैं
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
समय..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
ये ज़िन्दगी जाने क्यों ऐसी सज़ा देती है।
Manisha Manjari
वो हमें दिन ब दिन आजमाते रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
आइना हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
लाल टोपी
मनोज कर्ण
मां क्यों निष्ठुर?
Saraswati Bajpai
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
एक मुर्गी की दर्द भरी दास्तां
ओनिका सेतिया 'अनु '
कहानी *"ममता"* पार्ट-2 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
दिन जल्दी से
नंदन पंडित
पैसों से नेकियाँ बनाता है।
Taj Mohammad
बॉलीवुड का अंधा गोरी प्रेम और भारतीय समाज पर इसके...
हरिनारायण तनहा
उस निरोगी का रोग
gurudeenverma198
बुंदेली दोहा शब्द- थराई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
'तुम भी ना'
Rashmi Sanjay
थियोसॉफी की कुंजिका (द की टू थियोस्फी)* *लेखिका : एच.पी....
Ravi Prakash
" मेरा वतन "
Dr Meenu Poonia
** भावप्रतिभाव **
Dr.Alpa Amin
रात गहरी हो रही है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...