Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2023 · 1 min read

चंदा की डोली उठी

हमारे कांधे पर
तुम्हारी बांहें
हमारे चेहरे पर
तुम्हारी जुल्फें
ये ख़्वाब आख़िर
हम कैसे भूलें
ये ख़्वाब आखिर
हम कैसे भूलें…
(१)
हमारी आंखों में
तुम्हारी आंखें
हमारी सांसों में
तुम्हारी सांसें
ये ख़्वाब आख़िर
हम कैसे भूलें
ये ख़्वाब आख़िर
हम कैसे भूलें…
(२)
हमारे होठों पर
तुम्हारी बातें
तुम्हारे होठों पर
हमारी बातें
ये ख़्वाब आख़िर
हम कैसे भूलें
ये ख़्वाब आखिर
हम कैसे भूलें…
(३)
हमारा दिल और
तुम्हारी धड़कन
तुम्हारा दिल और
हमारी धड़कन
ये ख़्वाब आख़िर
हम कैसे भूलें
ये ख़्वाब आख़िर
हम कैसे भूलें…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#कविता #शायरी #poetry #प्रेम
#गीतकार #चंदा_की_डोली_उठी
#असफल #शहनाई #दुल्हन #प्रेमिका
#शादी #कवि #bollywood #lyrics
#जुदाई #विरह #बिछोह #तनहाई #शाम
#lyricist #dreamgirl #heartbroken
#सपना #उदास #dream #lover #sad

Language: Hindi
Tag: गीत
62 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वक़्त का काम
वक़्त का काम
Dr fauzia Naseem shad
फरिश्ता से
फरिश्ता से
Dr.sima
मात पिता को तुम भूलोगे
मात पिता को तुम भूलोगे
DrLakshman Jha Parimal
मंजिल तक का संघर्ष
मंजिल तक का संघर्ष
Praveen Sain
बड़ा भाई बोल रहा हूं
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
झरना का संघर्ष
झरना का संघर्ष
Buddha Prakash
हौसला
हौसला
Mahendra Rai
रिश्ते दिलों के अक्सर इसीलिए
रिश्ते दिलों के अक्सर इसीलिए
Amit Pandey
*खाट बिछाई (कुंडलिया)*
*खाट बिछाई (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
नाम बदलने का था शौक इतना कि गधे का नाम बब्बर शेर रख दिया।
नाम बदलने का था शौक इतना कि गधे का नाम बब्बर शेर रख दिया।
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
रात निकली चांदनी संग,
रात निकली चांदनी संग,
manjula chauhan
चाय कलियुग का वह अमृत है जिसके साथ बड़ी बड़ी चर्चाएं होकर बड
चाय कलियुग का वह अमृत है जिसके साथ बड़ी बड़ी चर्चाएं होकर बड
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
कौन कहता कि स्वाधीन निज देश है?
कौन कहता कि स्वाधीन निज देश है?
Pt. Brajesh Kumar Nayak
चाँद कुछ इस तरह से पास आया…
चाँद कुछ इस तरह से पास आया…
Anand Kumar
चौपाई छंद में सौलह मात्राओं का सही गठन
चौपाई छंद में सौलह मात्राओं का सही गठन
Subhash Singhai
Emerging Water Scarcity Problem in Urban Areas
Emerging Water Scarcity Problem in Urban Areas
Shyam Sundar Subramanian
आजमाइशें।
आजमाइशें।
Taj Mohammad
कुछ इस तरह से खेला
कुछ इस तरह से खेला
Dheerja Sharma
पार्क
पार्क
मनोज शर्मा
*😊 झूठी मुस्कान 😊*
*😊 झूठी मुस्कान 😊*
प्रजापति कमलेश बाबू
2388.पूर्णिका
2388.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Converse with the powers
Converse with the powers
Dhriti Mishra
वृक्षों की सेवा करो, मिलता पुन्य महान।
वृक्षों की सेवा करो, मिलता पुन्य महान।
डॉ.सीमा अग्रवाल
समस्या
समस्या
Paras Nath Jha
💐प्रेम कौतुक-387💐
💐प्रेम कौतुक-387💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वाचाल पौधा।
वाचाल पौधा।
Rj Anand Prajapati
मतदान का दौर
मतदान का दौर
Anamika Singh
STOP looking for happiness in the same place you lost it....
STOP looking for happiness in the same place you lost it....
आकांक्षा राय
नायक
नायक
Saraswati Bajpai
चंदा मामा बाल कविता
चंदा मामा बाल कविता
Ram Krishan Rastogi
Loading...