Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

घमौरीवाली दिन-रात

आजकल ‘दिन’
बारिश
और घमौरीवाली
गर्मी से
फिर ‘रात’
बिजली कटने से
अंधकार,
मच्छर,
जलताप की
किचकिच से
कट रहे हैं.
प्रकृति माने
मजा या सजा !

119 Views
You may also like:
कि राज दिल का उसको, कभी बता नहीं सके
gurudeenverma198
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
*** वीरता
Prabhavari Jha
हम एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
अपनी ख़्वाहिशों को
Dr fauzia Naseem shad
हर लम्हा कमी तेरी
Dr fauzia Naseem shad
देह मिलन
Kavita Chouhan
मेरे पीछे जमाना चले ओर आगे गन-धारी दो वीर हो!
Suraj Kushwaha
देखो-देखो आया सावन।
लक्ष्मी सिंह
आपकी याद को कहां रख दें
Dr fauzia Naseem shad
असफलता और मैं
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
दर बदर।
Taj Mohammad
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
फरियाद
Anamika Singh
सबकी अना का
Dr fauzia Naseem shad
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
बिंदु छंद "राम कृपा"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
योग तराना एक गीत (विश्व योग दिवस)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जब पिया घर नही आए
Ram Krishan Rastogi
जब जब ही मैंने समझा आसान जिंदगी को
सत्य कुमार प्रेमी
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
मुखौटा
संदीप सागर (चिराग)
ये दिल तेरी याद में
Dr fauzia Naseem shad
इतना तय है
Dr fauzia Naseem shad
नियति
Vikas Sharma'Shivaaya'
💐प्रेम की राह पर-53💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
स्वाधीनता आंदोलन में, मातृशक्ति ने परचम लहराया था
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
लबों से बोलना बेकार है।
Taj Mohammad
वजह क्या हो सकती है
gurudeenverma198
आज की नारी हूँ
Anamika Singh
Loading...